उनकी रचना, हमारी प्रेरणा



सत्यजीत रे की फिल्में देखने से आश्चर्य के अलावा कुछ नहीं आया। उनके लेखन, उनके रेखाचित्र और पेंटिंग आज भी मुझे मदहोश कर देते हैं। मेरे जीवन का एक बड़ा हिस्सा

Leave a Comment