Sukanya Samriddhi Yojana: ₹100 जमा करके अपनी बेटी को बनाए लखपति

सुकन्या समृद्धि योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश के मिडिल क्लास परिवारों से संबंध रखने वाली बालिकाओं को भविष्य में होने वाली आर्थिक समस्याओं से बचने के लिए शुरू किया है.

इस योजना के तहत माता-पिता के द्वारा बालिका की आयु 10 वर्ष पूरी होने से पहले निवेश खाता खोला जाता है. या निवेश खाता बैंक किया पोस्ट ऑफिस में खोला जा सकता है.

जिसमें बालिका के माता-पिता के द्वारा न्यूनतम 250 रुपए और अधिकतम 1.5 लाख रुपए प्रतिमाह निवेश के रूप में जमा किए जा सकते हैं.

अगर आप भी सुकन्या समृद्धि योजना 2022 के अंतर्गत अपनी बालिका का निवेश खाता खोलना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें. 

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 क्या है?

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाने वाली सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) एक की निवेश योजना है, जो देश की 10 वर्ष से कम आयु की बालिकाओं के माता-पिता को को सुरक्षित करने हेतु निवेश करने के लिए आकर्षित करती है.

यह योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का ही एक भाग है. इस योजना के तहत माता-पिता द्वारा का निवेश खाता खोला जाता है जो 18 साल या 21 साल की आयु के बाद उसकी शादी तक संचालित किया जाता है.

लेकिन इस खाते में 15 साल तक निवेश करना अनिवार्य है. सन 2022-23 के लिए इस खाद्य पर निवेश की गई धनराशि पर 7.6% किधर से व्यास प्रदान किया जाएगा. इस योजना को यहां पर विस्तार पूर्वक जान सकते हैं.

साथ ही इस योजना के तहत 1 साल मैं अधिकतम 1.5 लाख रुपए निवेश करने पर आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80c के तहत टैक्स में चूल्हे प्रदान की जाएगी.

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 अवलोकन 

योजना का नामसुकन्या समृद्धि योजना 
इनके द्वारा शुरू की गईकेंद्र सरकार के द्वारा 
लाभार्थी देश की 10 वर्ष की आयु से कम की बालिकाएं 
उद्देश्य बालिकाओं को भविष्य में होने वाले आर्थिक समस्या से बचाना 
साल2022
Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 का उद्देश्य क्या है? 

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य बालिकाओं को भविष्य में आने वाली आर्थिक समस्या से बचाना है.

क्योंकि इस महंगाई के दौर में मिडिल क्लास परिवार से संबंध रखने वाले माता-पिता को अपनी बालिकाओं को उच्च शिक्षा प्राप्त करवाते समय और शादी करते समय बहुत अधिक आर्थिक समस्या से जूझना पड़ता है।

इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री जी ने Sukanya Samriddhi Yojana की शुरुआत की है। इस योजना के तहत देशभर के कोई भी मिडिल क्लास परिवार से संबंध रखने वाले माता पिता या कानूनी अभिभावक आसानी से निवेश कर सकते हैं।

क्योंकि इस योजना के तहत खोले गए खाते में न्यूनतम 250 रुपए तक निवेश किया जा सकता है। इस समय  सुकन्या समृद्धि योजना 2022 देश में लड़कियों को एक आत्मनिर्भर जीवन जीने की हकदार बना रही है और साथ ही उन्हें उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रेरित कर रही हैं।

SSY खाता किन परिस्थितियों में परिपक्वता अवधि से पहले बंद किया जा सकता है

18 साल की आयु हो जाने पर शादी के लिए- लाभार्थी बालिका द्वारा 18 साल की आयु हो जाने के बाद अपनी शादी के खर्च के लिए SSY खाते को परिपक्वता अवधि से पहले बंद किया जा सकता है।

खाताधारक की आकस्मिक मृत्यु होने की स्थिति में- अगर बालिका की अकास्मिक मृत्यु हो जाती हैं तो इस स्थिति में माता-पिता या कानूनी अभिभावक Sukanya Samriddhi Scheme खाते से जमा राशि और उस पर अर्जित ब्याज निकाल सकते हैं।

यह राशि निकालने के लिए माता-पिता या कानूनी अभिभावक द्वारा खाताधारक की मृत्यु हो जाने से जुड़े संबंधित अधिकारी द्वारा वेरीफाई हुए दस्तावेजों को जमा करना होगा। इसके बाद तुरंत माता-पिता या कानूनी अभिभावक के खाते में यह धनराशि हस्तांतरित कर दी जाएगी।

आर्थिक रूप से खाता जारी रखने असमर्थ होने पर– बालिका के माता-पिता आर्थिक रूप से खाता जारी रखने में असमर्थ होते हैं तो इस स्थिति में वह खाते को बंद कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए उन्हें संबंधित अधिकारी से अनुमति लेनी अनिवार्य है।

पीएनबी बैंक द्वारा भी दिया जाएगा सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ 

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 का लाभ पंजाब नेशनल बैंक द्वारा भी दिया जाएगा. या एक सरकारी योजना है, जो केंद्र सरकार द्वारा 10 साल से कम आयु की बालिकाओं के लिए शुरू की गई है. पंजाब नेशनल बैंक ने अपने आधारित ट्विटर अकाउंट के माध्यम से यह सूचना दी है.

अब सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से 10 साल से कम आयु वाली बालिकाएं पीएनबी में सुकन्या खाता खोलकर न्यूनतम 250 रुपए से अधिकतम 1.5 लास्ट तक वित्तीय वर्ष में जमा कर सकते हैं. जिस पराए का लाभ भी 80c के तहत छूट का फायदा भी मिलेगा. 

बालिका 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर निकाल सकती है 50% निवेश राशि 

इस योजना के तहत खोले गए खाते पर 15 साल तक निवेश करना अनिवार्य है। लेकिन कन्या 18 वर्ष की आयु पूरी हो जाने के बाद या दसवीं कक्षा पास करने के बाद अपनी पढ़ाई करने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना खाते से 50% धनराशि निकाल सकती है।

यह धनराशि कन्या या माता पिता/कानूनी अभिभावक द्वारा एक साथ या किस्तों में निकाली जा सकती है। परंतु 1 वर्ष में एक ही बार ही और अधिकतम 5 सालों तक किस्त में धनराशि निकाली जा सकते हैं।

लाभार्थी देश के कौन-कौन से बैंक में SSY अकाउंट खुलवा सकता है

हमारे देश में भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा अधिकृत 28 बैंकों है। लाभार्थी इन बैंकों में से अपने नजदीकी किसी भी बैंक शाखा में जाकर SSY अकाउंट खुलवा सकता है। यह 28 बैंक  निम्नलिखित इस प्रकार है।

  • बैंक ऑफ इंडिया
  • भारतीय स्टेट बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • ऐक्सिस बैंक
  • आंध्रा बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  • इलाहाबाद बैंक
  • पंजाब एंड सिंध बैंक
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  • केनरा बैंक
  • देना बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर

निष्कर्ष

जैसा कि दोस्तों हमने आपको सुकन्या समृद्धि योजना 2022 से जुड़ा सभी जानकारी अपनी इसलिए केसरिया आपको बताने की कोशिश की है. हरियाणवी बताया कि सुकन्या समृद्धि योजना 2022 उनके लाभ क्या है और यह भी बताया है कि आप सुकन्या समृद्धि योजना के अकाउंट कहां खुलवा सकते हैं.

अगर फिर भी सुकन्या समृद्धि योजना 2022 से जुड़ा कोई आने वाले हो जिसे हम इसलिए के जरिए पूरा ना कर सके तो आप हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं आपके पूछे गए प्रश्नों का जवाब जरूर दें.

Leave a Comment