Salary Account Ke Fayde: इतनी सारी मुफ्त सुविधाएं, ज्‍यादातर लोग नहीं जानते फायदे की बात

आज के हमारे इस आर्टिकल में हम सभी लोग सैलरी अकाउंट पर कौन-कौन सी सुविधाएं प्रदान करें जाती है .उसके बारे में आप सभी लोगों के समक्ष जानकारियां प्रस्तुत करने वाले हैं.

हम इस बात की गारंटी देते हैं, कि इन सभी बातों से बहुत सारे लोग पूरी तरह से वंचित होंगे. जिनके बारे में हम आज इस आर्टिकल में आप सभी लोगों के समक्ष जानकारियां प्रस्तुत करने वाले हैं.

तो चलिए बिना किसी विलंब के आज के हमारे इस आर्टिकल को प्रारंभ करते हैं, और जानने की कोशिश करते हैं, कि आखिर वह कौन-कौन सी जरूरी और आवश्यक बातें हैं. जिसके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते हैं.

सैलेरी अकाउंट सामान्य सेविंग अकाउंट से थोड़ा सा अलग होता है. अगर इसके कारण की बात की जाए तो सैलरी अकाउंट पर आपको बहुत सारे ऐसे फायदे उपलब्ध कराए जाते हैं. जो कि सामान्य सेविंग अकाउंट पर उपलब्ध नहीं होते हैं. 

आखिर क्या होता है सैलरी अकाउंट

जैसा कि नाम सुनकर ही थोड़ी बहुत जानकारी मिल जा रही है, कि कंपनी की ओर से खोले गए अकाउंट जिसमें हर महीने व्यक्ति विशेष की सैलरी को क्रेडिट किया जाता है.

उसे सैलरी अकाउंट के नाम से जाना जाता है. वैसे तो सैलरी अकाउंट भी एक तरह का सेविंग अकाउंट ही होता है. इसमें भी आपको चेक बुक, एटीएम, नेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड इत्यादि सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है.

किंतु फिर भी यह सामान्य सेविंग अकाउंट से थोड़ा सा अलग होता है. क्योंकि सैलरी अकाउंट पर आपको कुछ ऐसे सुविधाएं प्रदान किए जाएंगे जो सामान्य सेविंग अकाउंट पर उपस्थित नहीं होते हैं. यदि आप फायदों के विषय में नहीं जानते हैं, तो यहां से जल्द से जल्द जान ले. सैलरी अकाउंट खुलवाने के लिए आप यहां जा सकते हैं.

जीरो बैलेंस सुविधा होती है मौजूद

सर्वप्रथम जो फायदा प्रदान किया जाता है, वह यह है, कि सैलरी अकाउंट पर आपको जीरो बैलेंस की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है.

3 महीने तक यदि आपके अकाउंट में जीरो बैलेंस है. तो बैंक किसी भी प्रकार का कोई भी जुर्माना आपसे नहीं लेगी. जबकि नॉर्मल सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मेंटेन करना ज्यादा आवश्यक होता है.

यदि ऐसा नहीं किया जाता है. तो उस पर पेनल्टी भी लग जाती है. जो कि खाते धारक को हर हाल में चुकानी होती है. अर्थात यदि सेविंग अकाउंट में पैसे नहीं है, और वह जीरो बैलेंस पर है.

तो उसमें दोबारा से पैसे जमा किए जाते हैं, तो उसमें से पेनल्टी को भी काट लिया जाता है. इस वजह से यहां पर मिनिमम बैलेंस मेंटेन करना बहुत जरूरी होता है.

एटीएम से फ्री ट्रांजैक्शन की सुविधा होती है उपलब्ध

ज्यादातर बैंक सैलेरी अकाउंट पर फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन की सुविधाएं उपलब्ध कराते हैं. इसमें एसबीआई ,आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक इत्यादि सम्मिलित किए गए हैं.

अपने एटीएम से कितनी बार भी महीने में ट्रांजैक्शन किया है. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. आपको इसको लेकर के किसी भी तरह से परेशान होने के बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है.

इसके अतिरिक्त सैलरी अकाउंट के एटीएम पर किसी प्रकार का चार्ज भी नहीं लिया जाता है. अगर बात करी जाए नॉर्मल एटीएम कार्ड की तो उसमें ऐसी कोई भी सुविधा उपलब्ध नहीं होती है. एक लिमिट के पश्चात एटीएम कार्ड का प्रयोग किया जाता है. तो उसमें चार्जेस करने लगते हैं. 

यह सुविधाएं भी होती है उपलब्ध वह भी फ्री में

आपकी सैलरी अकाउंट पर अकाउंट होल्डर को फ्री में चेक बुक, पासबुक ,नेट बैंकिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है. इसके अतिरिक्त सैलरी क्रेडिट हो जाने के पश्चात भी ऐसे में प्रदान किया जाता है.

इस पर किसी भी प्रकार का कोई भी चार्ज नहीं लिया जाता है. सामान्य तौर से जब यह सुविधाएं किसी सेविंग अकाउंट वाले लोगों को प्रदान कर जाती है.

तो उनसे कुछ चार्जेस लिए जाते हैं. लेकिन यदि सैलरी अकाउंट की बात की जाए, तो उस पर ऐसी कोई भी दरकार नहीं होती है. 

लोन भी प्राप्त कर सकते हैं, आसानी से

सैलरी अकाउंट के ऊपर आपको पर्सनल लोन, कार लोन इसके अतिरिक्त होम लोन इत्यादि किसी भी प्रकार का लोन बेहद ही आसानी से प्रदान किया जाता है.

क्योंकि इस लोन के साथ-साथ बैंक को रिस्क बहुत ही ज्यादा काम उठाना पड़ता है. सैलरी अकाउंट का स्टेटमेंट आपकी आमदनी के प्रमाणिक डाक्यूमेंट्स होते हैं.

इसके वास्ते आपको डाक्यूमेंट्स के सत्यापन में भी बहुत ही ज्यादा सुविधा और सुगमता प्राप्ति होती है. वहीं अगर आप सेविंग अकाउंट होते हुए पर्सनल लोन लेना चाहे .तो इसमें बहुत ही ज्यादा दिक्कतों का सामना संभवतः आपको करना पड़ सकता है.

वेल्थ सैलेरी अकाउंट के बारे में भी जाने

यदि आपके पास बहुत सारा पैसा मौजूद है. तो आप वेल्थ सैलरी अकाउंट को भी खुलवा सकते हैं. इसके अंतर्गत बैंक आपको डेडिकेटेड वेल्थ मैनेजर प्रदान करेगी. यह मैनेजर आपके बैंक से जुड़ी तमाम क्रियाकलापों पर निगरानी रखेगा.

लॉकर चार्जेस पर होती है बहुत ही ज्यादा छूट

बहुत सारे बैंक सैलेरी अकाउंट पर लॉकर चार्ज में भी छूट प्रदान किया करते हैं. जैसे एसबीआई कि यदि बात की जाए. तो बैंक सैलेरी अकाउंट पर लॉकर चार्ज में 25% तक की छूट प्रदान की जाती है.

किंतु यदि आपके बैंक को पता चले कि कुछ समय से आपके अकाउंट में सैलरी नहीं प्रदान की जा रही है. तो आपको प्रदान की जाने वाली तमाम सुविधाएं आपसे वापस ले ली जाएगी.

इसके साथ ही आपके बैंक अकाउंट को नार्मल सेविंग बैंक अकाउंट के अंतर्गत ही जारी कर दिया जाएगा. यदि आप भी एक सैलरी अकाउंट खुलवाना चाहते हैं. तो आप इन सभी विशेष बातों का खास ख्याल रखना होगा. जिससे कि आपको कोई भी दिक्कत ना हो.

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने आप सभी लोगों के समक्ष सैलरी अकाउंट के अंतर्गत प्रदान की जाने वाली तमाम सुविधाओं के बारे में सारी आवश्यक जानकारियां उल्लेखित करी है. हमें उम्मीद है, कि हमारा यह प्रयास आपको बहुत ही ज्यादा पसंद आया होगा .

यदि आप हमसे कोई सवाल पूछना चाहते हैं, या फिर हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं. तो यह कार्य आप कमेंट के जरिए आसानी से कर सकते हैं.

Leave a Comment