PM Kisan: 14 करोड़ क‍िसानों के ल‍िए बड़ा ऐलान, सुनकर उछल पड़ेंगे

आज के हमारे इस लेख में सभी लोगों के समक्ष प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से जुड़ी बातों पर विचार विमर्श करने वाले हैं.

ये बात तो हर किसान को मालूम है कि समय-समय पर केंद्र सरकार किसानों के हित के लिए कुछ ना कुछ बदलाव योजनाओं में करते रहती है.

केंद्र सरकार द्वारा किसानों की आय बढ़ाने के लिए और उनके विकास के लिए लगातार प्रयास कर रही है.

इसके तहत केंद्र सरकार की तरफ से कई ऐसी योजनाएं चलाई जा रही है, जिससे किसानों को आर्थिक लाभ मिल रहा है.

व‍ित्‍त मंत्री न‍िर्मला सीतारमण ने सरकारी बैंकों को आदेश दिए हैं कि वे ग्रामीणों की आमदनी बढ़ाने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) होल्‍डर्स को आसानी से कर्ज दें.

वित्त मंत्री ने किसानों के हित के लिए ये बात कही है ताकि किसानों को इसका फायदा मिल सके. यदि आप भी पीएम किसान योजना का फायदा लेते हैं, तो उसके लिए थोड़ा इतजार करना होगा.

आपको बता दें, 13वीं किस्त आने में अभी काफी समय है, लेकिन इसका इंतजार देशभर के सभी किसान कर रहे हैं. इसके तहत प्रत्येक लाभार्थी किसान को दो-दो हजार रुपए उनके खाते में ट्रांसफर किए जाते हैं.  

यदि आप भी इस योजना के लाभार्थी हैं यह इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो जल्द से जल्द केसीसी के लिए अप्लाई करना होगा.

तो चलिए बिना किसी विलंब के आज के हमारे इस लेख को प्रारंभ करते हैं, और जानने की कोशिश करते हैं कि आज के इस आर्टिकल में आखिर क्या खास होने वाला है.

प्रधानमंत्री किसान योजना है क्या?

पीएम किसान योजना को केंद्र सरकार के द्वारा किसानों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए प्रारंभ किया गया था.

आपको बता दे कि इस योजना की सफलता से आज हमारे देश में बहुत सारे किसानों को लाभान्वित किया जा चुका है और बहुत सारे किसानों को लाभ पहुंचाना बाकी है.

आपको बता दें, कि इस योजना के तहत प्रदान किए जाने वाले किस्त ₹2000 के होते हैं.

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत लाभार्थियों को ₹6000 की राशि आर्थिक सहायता के तौर पर सालाना उपलब्ध कराई जाती है. लेकिन यह राशि लाभार्थियों को एक ही बार नहीं दी जाती है.

अपितु ₹2000 के सामान किस्तों में इसका भुगतान किया जाता है. एक किस्त तथा दूसरे किस्त के मध्य के समय लगभग 4 महीने का होता है.

इस योजना के तहत ही किसानों को लोन भी उपलब्ध कराया जाता है लेकिन उसके लिए किसान क्रेडिट कार्ड का होना बहुत जरूरी है.

जैसे कि आपको बताया हाल ही में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने बैंकों को आदेश जारी कर दिया है की किसानों को लोन मुहैया कराना है ताकि किसानों की आमदनी बढ़े.

पीएम किसान योजना से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

मोदी सरकार ने छोटे और सीमांत किसानों को ध्यान में रखकर ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की है.

आपको बता दें इस योजना के तहत अब तक किसानों को 12 किस्तों का पैसा खाते में ट्रांसफर किया जा चुका है और अब किसानों को 13वीं किस्त का बेसब्री से इंतजार है.

व‍ित्‍त मंत्री न‍िर्मला सीतारमण ने सरकारी बैंकों को निर्देश दी है कि वे ग्रामीणों की आमदनी बढ़ाने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड होल्‍डर्स को आसानी से कर्ज दें.

व‍ित्‍त मंत्री ने हाल ही में पब्‍ल‍िक सेक्‍टर के बैंकों के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों के साथ इस विषय पर लंबी बातचीत भी की थी.

इस दौरान उन्होंने रीजनल बैंकों से ग्रामीणों की मदद के लिए बैंक की तकनीक को उन्नत बनाने का सुझाव दिया था. हालांकि, वित्त मंत्री ने किसानों की आमदनी को लेकर लंबी बहस की.

किसानों के लिए उन्होंने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की एग्रीकल्‍चर लोन में अहम भूमिका पर जोर दिया है ताकि किसानों को इसका फायदा हो.

किसानों के हित में बैठक में कुछ विशेष बातें

इस बैठक के बाद मछली पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला द्वारा बैठक की विस्तृत जानकारी दी गई.

उन्होंने बताया कि इस दौरान व‍ित्‍त मंत्री ने किसान क्रेडिट कार्ड योजना का र‍िव्‍यू क‍िया. उन्‍होंने इस बात पर व‍िचार क‍िया और सुझाव भी दिया क‍ि कैसे लोन क‍िसानों के ल‍िए उपलब्ध कराया जा सके.

इस बैठक में क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की एग्रीकल्‍चर लोन में अहम भूमिका पर जोर दिया गया है. इसके अलावा एक अन्य सत्र में क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों पर फैसला लि‍या गया क‍ि प्रायोजक बैंकों को डिजिटलीकरण और प्रौद्योगिकी सुधार में मदद करनी चाहिए.

यह बात तो हर एक किसान को मालूम है की कृषि लोन में ग्रामीण बैंक की अहम भूमिका होती है. हमारे देश में कुल 43 आरआरबी हैं, जिनमें से एक तिहाई आरआरबी घाटे में चल रही हैं.

ग्रामीण बैंकों का उद्देश्य ही है कि ग्रामीण क्षेत्रों में छोटे और सीमांत किसानों, कृषि श्रमिकों और मजदूरों को लोन और अन्य सुविधाएं उपलब्ध करना है.

किसान क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत मिलने वाला लोन:

आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि किसान क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत सरकार किसानो को 3 लाख तक का लोन मुहैया करवाती है.

हालांकि, उम्मीदवार को एक बात का ध्यान रखना होगा की एक लाख से अधिक लोन लेने पर आपको अपनी जमीन गिरवी रखनी होगी.

आपको बता दे इस योजना में आपको 7 प्रतिशत ब्याज दर पर लोन को चुकता करना होगा.

लेकिन आप यदि बैंक द्वारा दिए गए समय व तिथि पर अपना ऋण चुका देते है तो आपको सिर्फ 4 प्रतिशत ब्याज ही देने होंगे और इस तरह से आपको 3 प्रतिशत ब्याज की छूट मिल जाएगी.

किसान क्रेडिट योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

यदि आप चाहते हैं किसान क्रेडिट कार्ड का आवेदन करना तो उसके लिए पीएम किसान की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर भी आवेदन कर सकते है.

हम आपको आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया साझा कर रहे है आप हमारे दिए हुए स्टेप्स को फॉलो कर सकते है.

सबसे पहले आप पीएम किसान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.

इसके पश्चात आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जायेगा, होम पेज पर Download KCC Form का विकल्प दिखेगा आपको उस पर क्लिक कर देना है.

ऑप्शन पर क्लिक करते ही आपके सामने KCC Application Form PDF खुल जाएगी.

आपको यहां से एप्लिकेशन फॉर्म को डाउनलोड कर लेना है. डाउनलोड करने के बाद आप फॉर्म को प्रिंट करके निकाल ले.

उसके बाद फॉर्म में सारी जानकारी को भर दे और दस्तावेजों को अटैच कर ले. इसके बाद जिस बैंक में आपका खाता है आप उस बैंक में जाकर अपना आवेदन फॉर्म जमा कर दे.

Leave a Comment

Join Telegram