Ladli Laxmi Yojana: बिटिया की शिक्षा के लिए मिलेंगे ₹100000 से ज्यादा की रकम

आज के आर्टिकल में आप सभी समक्ष लाडली लक्ष्मी योजना से जुड़ी संपूर्ण जानकारी साझा करेंगे कि किस तरह सरकार बेटियों कि शिक्षा के क्षेत्र में इस योजना के तहत मदद करेगी. 

यदि आपके भी घर में बेटी है तो इस आर्टिकल को आपको जरूर पढ़नी चाहिए ताकि आपकी बेटी इस योजना का पूरा लाभ उठा सकें. 

यह बात तो हम सभी को मालूम ही है कि हमारे देश में अभी भी लड़के लड़कियों को लेकर आ समानताएं है उन्हीं चीजों को दूर करने के लिए तथा लड़कियों को आगे बढ़ाने के लिए सरकार अलग-अलग स्कीम चलाते रहती है. 

खासकर के लाडली लक्ष्मी योजना लड़कियों के लिए एक वरदान ही है, क्योंकि इस योजना के तहत केंद्र सरकार जन्म से लेकर शिक्षा तक का खर्च के लिए धनराशि उपलब्ध कराती है. 

यदि कोई परिवार अपने बच्चों का भविष्य के लिए लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत आवेदन करता है तो उन्हें सरकार की तरफ से किस्तों के रूप में रकम सीधे खाते में भेज दी जाएगी. 

 आज भी हमारे देश में ऐसे बहुत सारे गरीब माता-पिता है जो अपने बच्चों को उच्च शिक्षा के साथ-साथ सही से भरण-पोषण भी कर पाते हैं. 

इन सभी समस्याओं को सुलझाने के लिए केंद्र सरकार ने बेटियों के लिए लाड़ली लक्ष्मी योजना की शुरुआत की है ताकि बेटियां भी आत्मनिर्भर और सशक्त बन सके और शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा कर सके. 

यदि आप भी चिंतित है अपने बेटियों के भविष्य को लेकर तो आप भी जरूर पढ़ें इस लेख को ताकि इस योजना का लाभ उठा सके.

लाडली लक्ष्मी योजना के उद्देश्य

लाडली लक्ष्मी योजना को लागू करने के पीछे सरकार के कई सारे उद्देश्य है. 

केंद्र सरकार बालिकाओं को सशक्त, शिक्षित, स्वास्थ्य और उज्जवल भविष्य के लिए किस्तों में रकम देने की व्यवस्था की है.

इस योजना के तहत लिंगानुपात सूचकांक में सुधार लाना है. 

बालिकाओं के जन्म के प्रति लोगों के दिमाग में सकारात्मक सोच पैदा करना है. 

इस योजना के तहत जनसंख्या वृद्धि दर को कम करना है. 

इस योजना के तहत बालिकाओं के शिक्षण स्तर को ऊपर ले जाने का लक्षण रखा गया है. ताकि बालक एवं बालिकाओं में समानताएं को दूर कर सकें.

इस योजना का उद्देश्य यह भी है कि कन्या भ्रूण हत्या/शिशु हत्या को रोकना है. 

इस योजना के तहत बेटियों के बाल विवाह की समस्या को दूर करना है. इसके लिए केंद्र सरकार ने 18 वर्ष की उम्र में शादी करने वाली लड़कियों को ₹1 लाख रुपए की राशि प्रदान करेगी. 

लाडली लक्ष्मी योजना के तहत किस प्रकार से राशि उपलब्ध कराई जाती है 

इस योजना के तहत केंद्र सरकार बेटियों को ₹160000 किस्त के रूप में उनके खाते में ट्रांसफर कर देती है और किस आयु में कितना कितना रकम भेजी जाती है उसकी जानकारी नीचे उपलब्ध करा दी गई है. 

लाडली लक्ष्मी योजना के तहत माता पिता अपने बच्चों का आवेदन कर दिया है तो जन्म से लेकर पांच वर्षों तक 6-6 हजार रुपए उनके खाते में जमा की जाएगी. यानी कि कुल 5 वर्षों में ₹30000 की रकम मिलेगी. 

इसके बाद जब कोई भी बालिका 6वीं कक्षा में दाखिला लेती है तो इसे 2000 रुपए की राशि खाते में ट्रांसफर कर दी जाती है. 

इसके बाद जब छात्रा 9वीं कक्षा में दाखिला लेती है उसे ₹4000 की राशि फिर से उपलब्ध कराई जाती है. 

कक्षा 11वीं में प्रवेश लेने पर बालिकाओं को ₹6000 की राशि मुहैया कराई जाती है. 

इसी प्रकार से जब बालिका 12वीं कक्षा में दाखिला लेती है तो उन्हें एक बार फिर से ₹6000 की राशि दी जाती है. 

लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत अंतिम भुगतान सरकार बालिका की आयु 21 वर्ष होने पर ₹100000 की करती है लेकिन इसके लिए बालिका को 12वीं की परीक्षा में सम्मिलित होना होगा. 

लाड़ली लक्ष्मी योजना पात्रता 

इस योजना के तहत सिर्फ वही बालिका आवेदन कर सकते हैं जिनके माता-पिता भारत के मूल निवासी हैं. 

इस योजना का लाभ लेने के लिए माता पिता आयकर दाता के रूप में नहीं होनी चाहिए. 

दूसरी संतान के मामला में आवेदन करने से पहले माता-पिता ने परिवार नियोजन अपना लिया हो. 

प्रथम प्रसव(childbirth) से जन्मी बालिका को बिना परिवार नियोजन के लाभ दिया जाएगा द्वितीय प्रसव से जन्मी बालिका को लाभ दिये जाने हेतु माता-पिता को परिवार नियोजन अपनाया जाना जरूरी है. 

ऐसे परिवार जिसमें प्रथम बालक अथवा बालिका है तथा दूसरे प्रसव में दो जुड़वा बच्चियां जन्म लेती है,ऐसी स्थिति में दोनों जुड़वा बच्चियों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा. 

यदि कोई परिवार बच्ची को गोद लेता है तो ऐसी स्थिति में गोद ली गई बच्ची को प्रथम संतान मानते हुए उसको भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा लेकिन उसके लिए गोद ली हुई बच्ची का गोद लेने का प्रमाण पत्र दिखाना होगा. 

यदि किसी कारण बालिका के माता पिता की मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में बच्चे की उम्र 5 वर्ष होने तक आवेदन पत्र लाडली लक्ष्मी योजना के तहत प्रस्तुत किए जा सकते हैं. 

जेल में बंद महिला की जन्मी बच्ची को भी इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा. 

पहला प्रसूति के समय एक साथ 3 बच्चियां होने पर भी तीनों बच्चियों को लाडली लक्ष्मी योजना का लाभ मिलेगा.

लक्ष्मी योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज 

आवेदक के पास आधार कार्ड होना चाहिए.

लाभार्थी के पास निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए. 

आवेदक को अपना बैंक अकाउंट का विवरण देना होगा. 

आवेदन करने वक्त आवेदन फॉर्म के साथ बच्चियों का जन्म प्रमाण पत्र भी जमा करना अनिवार्य है. 

आवेदक को अपने आवेदन पत्र के साथ परिवार नियोजन पत्र भी जमा करना होगा.

आवेदक के पास पासपोर्ट साइज फोटो होनी चाहिए.

लाडली लक्ष्मी योजना का आवेदन प्रक्रिया: 

कोई भी व्यक्ति अपनी बच्ची का आवेदन इस योजना के तहत आंगनवाड़ी केंद्र से कर सकता है. 

सबसे पहले आपको इसका आवेदन फॉर्म आंगनवाड़ी केंद्र से प्राप्त कर लेनी है. 

इसके बाद आवेदन फार्म पूछी गई सभी जानकारियों को अच्छी तरीके से भर लेनी है. इसके साथ मांगी गई सभी दस्तावेजों को अटैच कर लेना है. 

इसके बाद आपको फॉर्म को जिला कार्यालय या आंगनवाड़ी केंद्र पर जमा कर देना है. 

इसके बाद जब आपके द्वारा आवेदन की गई फॉर्म की सरकारी अधिकारियों के द्वारा जांच की जाएगी अगर सब कुछ सही रहा तो आपकी आवेदन स्वीकृत कर ली जाएगी नहीं तो उसे रिजेक्ट कर दिया जाएगा. 

यदि आपका फार्म स्वीकृत होता है तो केंद्र सरकार के तरफ से बेटी के नाम पर आपको ₹143000 का सर्टिफिकेट दिया जाएगा.

Leave a Comment

Join Telegram