New Price: मकान बनाने का गोल्डन चांस, सरिया-सीमेंट में रिकॉर्डतोड़ गिरावट

खुद का आशियाना बनाना किस का सपना नहीं होता है? ऐसे में प्रत्येक व्यक्ति के द्वारा इन सपनों को पूर्ण कर लिया जाए यह भी आवश्यक नहीं होता है. यदि आपका भी स्वप्न खुद का घर बनाने का है, तो फिर आपको अब परहेज करने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है.

इस पोस्ट के जरिए आप सभी लोगों को कुछ ऐसी महत्वपूर्ण बातों के विषय में जानकारी प्राप्त होगी. जो आपको स्वयं के आशियाना खड़ा करने हेतु सहायता प्रदान करेगी.

स्वयं का घर बनाना, एक कठिन कार्य

यदि आप खुद का घर बनाना चाहते हैं, तो फिर यह एक बहुत ही ज्यादा कठिन कार्य है. जिसे करवाना बिल्कुल भी सरल नहीं है, इस कार्य को पूर्ण करने हेतु बहुत सारे पैसे, संयम, संघर्ष तथा संतोष की आवश्यकता होती है.

तब कहीं पर स्वयं का घर बन पाता है, ऐसे में यदि आपके पास पैसे पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं है. तो फिर संभवतः आपको स्वयं के घर बनाते समय थोड़ी सी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है.

अब ऐसा बिल्कुल भी नहीं है, क्योंकि कंस्ट्रक्शन मैटेरियल्स में मुख्य रूप से सरिया और सीमेंट के मूल्य औंधे मुंह गिर चुके हैं. जो कि स्वयं का घर बनाने हेतु एक सुनहरे अवसर की उत्पत्ति कर रहे हैं. आप को बड़ा दे की दिल्ली से लेकर रायपुर तक सरिया और सीमेंट के दाम सस्ता हुवा है, इसकी पूरी डिटेल्स आप को यंहा देखने को मिल जायगी।

बिल्कुल भी आसान नहीं है यह कार्य 

यदि आप भी स्वयं का घर बनाना चाहते हैं, तो फिर इस कार्य हेतु आपको इस संदर्भ में पूरी तरह से सुनिश्चित हो जाना चाहिए कि यह कार्य बिल्कुल भी सरल कार्य नहीं है.

नए घर बनाने के लिए एक बेहतर जमीन के साथ-साथ कंस्ट्रक्शन मैटेरियल जैसे की सरिया, सीमेंट, रेत, ईंट, बार इत्यादि होने भी बहुत ही ज्यादा आवश्यक है.

इन सबके अतिरिक्त सर्वाधिक आवश्यक तो यह है कि आप किस प्रकार से स्वयं का घर बनाएंगे? अर्थात आपको अपनी कल्पनाओं को भी पूर्ण करना है और बचत को भी ध्यान में रखना है.

ऐसे इन दोनों ही बातों पर समंजस बैठा पाना बहुत ही ज्यादा कठिन है‌. इसके अलावा  महंगाई का यह दौर लोगों की दैनिक जीवन को पूरी तरह से प्रभावित कर रहा है. 

पर्याप्त मात्रा में धन एकत्रित कर ले

यदि आप स्वयं का घर बनाना चाहते हैं, तो फिर इस विषय में आपको अवश्य ही पता होगा कि स्वयं का घर बनाना एक बहुत ही ज्यादा कठिन कार्य है. इसके अतिरिक्त इसमें पैसों की भी बहुत ही ज्यादा आवश्यकता होती है.

इस स्थिति में यदि आपके पास पर्याप्त मात्रा में धन उपलब्ध नहीं होता है, तो फिर आपके द्वारा घर बनाने की प्रक्रिया बहुत ही ज्यादा कष्ट दाई सिद्ध हो सकती है.

बहुत सारे लोग तो अपने समस्त जीवन में थोड़ा थोड़ा पैसा बचा कर के एक जमा पूंजी खड़ी कर देते हैं, और उस पैसों का प्रयोग अपने घर बनाने हेतु करते हैं. किंतु कुछ ऐसे भी होते हैं जो कि अपने नजदीकी बैंकों से होम लोन प्राप्त कर इस कार्य को पूर्ण करते हैं.

आप अपनी आवश्यकता तथा स्थिति के अनुरूप इन दोनों ही विकल्पों में से किसी एक का चयन कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त अन्य और भी बहुत सारे विकल्प प्रत्येक व्यक्ति के समक्ष मौजूद होते हैं.

घर बनाते समय एक विकल्प यह भी है की आप सरिया सीमेंट के दाम जब काम हो उस समय आप यह कार्य करें, नई सरिया सीमेंट के भाव के हिसाब से आप को यह बता दे की आज फिर सस्ता हुआ सीमेंट और सरिया के दाम.

आप किसे प्राथमिकता देंगे?

जब भी स्वयं के घर बनाने की बात आती है, तो फिर इसे एक कठिन कार्य के तौर पर देखा जाता है. ऐसे में सभी लोगों के समक्ष मुख्य रूप से दो विकल्प होते हैं, सर्वप्रथम तो प्लॉट खरीद कर अपनी आवश्यकता कल्पना तथा सामर्थ्य के अनुसार ही गृह निर्माण कार्य को संपन्न करें.

या फिर बना बनाया घर ही खरीद ले, जिससे कि वह कंस्ट्रक्शन मैटेरियल तथा कंस्ट्रक्शन कार्य के झंझट से दूर रहें. किंतु यदि आप स्वयं का घर स्वयं ही बनाने का संकल्प लेते हैं तो फिर यह भी एक अच्छा विकल्प है.

किंतु स्वयं का घर स्वयं बनाते समय आपको कुछ विशेष बातों का खास ख्याल रखना होता है. जिसे कि आपके पैसे व्यर्थ खर्च भी ना जाए, और आप अपनी कल्पनाओं के अनुरूप अपना घर भी तैयार कर ले.

सरिया के मूल्य गिरे

अभी कंस्ट्रक्शन मैटेरियल में मुख्य रूप से सरिया के मूल्यों में काफी ज्यादा गिरावट देखने को मिल सकती है. सरिया के मूल्यों को लेकर के देश के अन्य बड़े बड़े शहर जैसे कि मध्यप्रदेश के इंदौर में काफी ज्यादा परिवर्तन साफ तौर से देखी जा सकती है.

किंतु सौभाग्यवश यह परिवर्तन प्रत्येक कंस्ट्रक्शन वर्क करवाने वाले लोगों के लिए अनुकूल सिद्ध हो चुका है. अक्टूबर के महीने में मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में एक टन सरिया का मूल्य ₹54200 तय किया गया था. लेकिन अभी यह मूल्य केवल ₹52800 प्रति टन के स्तर पर आ चुका है.

इसी प्रकार से यदि बात की जाए उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर की तो यहां पर 1 टन सरिया का मूल्य ₹55200 तय किया गया था. लेकिन अभी यह मूल्य केवल ₹53000 प्रति टन के स्तर पर अटकी हुई है.

गाजियाबाद शहर में भी सरिया के मूल्यों में गिरावट साफ तौर पर देखी जा सकती है. यहां पर अक्टूबर के महीने में एक टन सरिया का मूल्य ₹52200 तय किया गया था, लेकिन अभी यह मूल्य केवल ₹49500 प्रति टन हो चुका है.

यदि आप महाराष्ट्र के मुंबई शहर में रहने वाले हैं, तो फिर आपको यह बात अवश्य ही पता होगी कि यहां पर एक टन सरिया का मूल्य ₹55100 निर्धारित किया गया था. लेकिन अब यह मूल्य केवल ₹52800 प्रति टन ही तय है.

महाराष्ट्र के एक अन्य शहर नागपुर कि यदि बात की जाए तो यहां पर अक्टूबर के महीने में 1 टन सरिया का मूल्य ₹51900 तय किया गया था. लेकिन अभी यह मूल्य केवल ₹47800 प्रति टन के स्तर पर अटकी हुई है.

बिल्कुल ऐसी ही परिस्थिति तमिलनाडु के चेन्नई शहर के संदर्भ में हुई है, अर्थात यहां पर भी सरिया के मूल्य गिरे हैं. अक्टूबर के महीने में सरिया का मूल्य ₹54500 प्रति टन के लिए निर्धारित किया गया था, लेकिन अभी यह मूल्य ₹52200 प्रति टन के स्तर पर अटका हुआ है.

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में हमने आप सभी लोगों के समक्ष कंस्ट्रक्शन मैटेरियल्स के मूल्यों से जुड़ी सारी आवश्यक जानकारी उपलब्ध करवाई है. हमें आशा है कि हमारे द्वारा प्रदान की गई यह सभी जानकारियां आपको भी बेहद ही ज्यादा लाभान्वित करेंगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top