Gold Rate Today: नई साल में महंगा हुआ सोना, खरीदारों के लिए बड़ा झटका  

सोना 121 रूपये की तेजी के साथ 54,721 र रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ. इससे पिछले कुछ दिनों पहले सोने का भाव 54,600 रुपये  के प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था. 

सोमवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने की कीमतों में ₹121 की तेजी के साथ 54,721 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ.

HDFC की सिक्योरिटीज से यह जानकारी प्राप्त हुई की इससे पिछले सत्र में सोने का भाव ₹54,600 प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था.

अब इसके अलावा चांदी की कीमतों में भी ₹100 की तेजी से 69,050 प्रति किलोग्राम बंद हुई है क्रिसमस की छुट्टियों के कारण से सोमवार को कॉमिक्स का हाजिर बाजार बंद है. 

HDFC की सिक्योरिटीज के शोध विश्लेषक दिलीप परमार ने कहा कि छुट्टियों के सीजन के कारण से वैश्विक बाजारों से संकेतको के आभाव में घरेलू बाजार में सोने की कीमतों में स्थिरता देखने को मिल रही है.

दिलीप परमार ने कहा कि अभी सोने और चांदी का कारोबार सीमित रहने की संभावना हो सकती है. उन्होंने यह भी कहा कि हालांकि, अभी कम अवधि वाला रुझान अभी भी सोने में तेजी का है. 

फ्यूचर्स ट्रेड़ में कीमतें 

फ्यूचर्स ट्रेन में सोमवार को सोने की कीमतों में 46 रुपये बढ़कर, अब 54620 रूपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गई है.

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज, फरवरी डिलीवरी के लिए कॉन्ट्रैक्टस 0.48 फ़ीसदी या 46 रूपये की बढ़ोतरी के साथ 54,620 रूपये  प्रति 10 ग्राम पर ट्रेंड कर रहे थे. यह 13,785 लॉट्स के बिजनेस टर्नओवर के लिए है. 

आपको जानकारी के लिए बता दे की दुनिया भर में सोने को लेकर भारतीयों का आकर्षण काफी प्रसिद्ध है, यहां तक की गोल्ड के कारोबार में भी दुनिया भर में और भारत के आयात बिल पर भी इसका आकर्षण का सीधा असर देखने को मिलता है.

ऐसे में जानकारी प्राप्त करना बहुत जरूरी हो जाता है. कि भारत में किन किन राज्यों और किन किन जिलों में सोने को लेकर प्यार दूसरे चीजों से कहीं ज्यादा है। दुनिया भर में भारत सबसे अधिक सोने की खपत करने वाले देशों में दूसरे स्थान पर आता है. 

बता दें कि चीन में कोविड-19 की चौथी लहर आ चुकी है. दुनिया में मंदी का साया है. ऐसे में जनवरी से लेकर मार्च तक का महीना सोने के निवेशकों के लिए काफी अहम रहने वाला है.

जानकारों से यह जानकारी प्राप्त हुआ कि जनवरी में सोने के दाम मौजूदा लेवल से करीब 1600 रुपए और मार्च तक 3000 तक बढ़ सकते हैं.

इसका तात्पर्य हुआ कि ढाई साल के बाद सोने का लाइफटाइम रिकॉर्ड जनवरी में डूबता हुआ कुछ दिनों के बाद दिखाई दे सकता है.

शादियों का सीजन

पिछले कुछ महीनों में बाजार में उतार-चढ़ाव देखने को मिला है जिसकी वजह से सोना चांदी से लेकर अन्य सामानों में भी महंगाई देखने को मिली है.

हमारे देश में अभी शादियों का लगन जोरो शोर से शुरू हो रहा है, जिसके लिए लोग सोने चांदी की खरीदारी जमकर करते हैं.

लेकिन यह बहुत ही दुखद की खबर है कि सोने और चांदी की कीमत में बढ़ोतरी हुई है. कीमत के बढ़ने के बाद बहुत से ऐसे मिडिल क्लास परिवार के लिए दिक्कत होगी क्योंकि वे लोग सोने की खरीदारी अच्छे से नहीं कर सकेंगे। उम्मीद लगाते हैं कि जल्द से जल्द सोना और चांदी की कीमत में गिरावट आएगी।

भारत में सोने के दाम  पर प्रभाव डालने वाला  कारण 

दुनिया भर में भारत सहित कई और देशो में इन्वेस्टमेंट के लिए काफी डिमांड है. यहां अन्य फाइनेंसियल की तरह, सोने के दामों में भी बदलाव होता है.

जिसका कारण यहां सोने का मार्केटिंग प्राइस तय करने में सबसे बड़ा कारण डिमांड है हालांकि और भी अन्य कारण से प्राइस पर प्रभाव पड़ सकता है, इन कारणों के बारे में यहां जानकारी दी जा रही है.

किसी कमोडिटी की तरह यहां, डिमांड और सप्लाई का सोने के दाम पर बड़ा प्रभाव होता है, अधिक डिमांड और कम सप्लाई होने पर प्राइस में बढ़ोतरी होती है. इसी प्रकार सोने की अध्यक्षता और सिर्फ कमजोर ईमान से प्राइस गिर सकती है.

निष्कर्ष

हमने इस लेख के जरिए आपको सोना चांदी की कीमत के बारे में सारी जानकारी प्रदान किया है, और यह भी बताया है कि कब सोना और चांदी की कीमत कम होने की उम्मीद है.

अगर आप सोना चांदी खरीदने का योजना बना रहे हैं तो थोड़ा इंतजार कीजिए हो सकता है आने वाले समय में सोना चांदी के कीमत में गिरावट देखने को मिलेगी।

इसके अलावा अगर आपके मन में कोई अन्य सवाल हो जिसे आप हम से पूछना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं हम आपके सवालों का जवाब जरूर देंगे।

Leave a Comment

Join Telegram