7th Pay Commission: दिवाली पर सैलरी के बराबर मिलेगा बोनस

आप सब पता है केंद्रीय सरकार ने हाल ही में वेतन आयोग की सिफारिश से केंद्रीय कर्मचारियों की महंगाई भत्ते (DA) को बढ़ाया गया था.

जो DA (Dearness Allowance) 34% थी उसे बढ़ाकर 38% कर दी गई है. कुल महंगाई भत्ते में 4% वृद्धि की गई है. अब केंद्रीय सरकार के तरफ से केंद्रीय कर्मचारियों के लिए एक और बहुत बड़ी खुशखबरी आई है.

कैबिनेट में हुई बैठक में वित्त मंत्रालय ने केंद्रीय कर्मचारियों के लिए दीपावली पर 1 महीने की वेतन के बराबर एड-हॉक बोनस का ऐलान किया है.

ऐसे में केंद्रीय कर्मचारियों के लिए दीपावली के मौके पर बहुत बड़ा तोहफा दिया जा रहा है जैसे कि आपको बताया कि केंद्र सरकार ने ऐलान कर दिया है कि दीपावली के त्यौहार पर कर्मचारियों को बोनस हर साल की तरह दिया जाएगा. 

आपको बता दें कि वित्त मंत्रालय ने कैबिनेट की बैठक में जानकारी प्रदान की है की जिस प्रकार से केंद्र कर्मचारियों को 1 महीने का वेतन दिया जाता है उसी के बराबर नन-प्रोडक्टिविटी लिंक्ड बोनस दिया जाएगा.

आप लोगों को अवगत करा दूं कि इसमें केंद्र सरकार के ग्रुप-सी और ग्रुप-बी कैटेगरी के कर्मचारी युक्त किए गए हैं. 

1 महीने के बराबर एडहॉक बोनस

जैसे कि आप लोगों को बताया कि सातवां वेतन आयोग की सिफारिश से केंद्रीय सरकार ने केंद्र कर्मचारियों को 1 महीने के बराबर एडहॉक बोनस (ad-hoc Bonus) दिया जाएगा और इसका सीधा-सीधा लाभ केंद्र कर्मचारियों को मिलेगा.

एडहॉक बोनस उसे कहा जाता है जो उत्पादक के संबंध से किसी बोनस स्कीम के अंतर्गत नहीं आता है इसे साल में एक बार 30 दिन की वेतन के बराबर एडहॉक बोनस प्रदान किया जाता है.

वित्त मंत्रालय की तरफ से बोनस को लेकर घोषणा करने के बाद केंद्रीय कर्मचारियों की दीपावली के अवसर पर मानों लॉटरी निकल गई हो.

केंद्र कर्मचारी काफी खुश है क्योंकि उन्हें लगभग 1 महीने सैलरी के बराबर की नन-प्रोडक्टिविटी लिंक्ड बोनस दिया जाएगा. 

इस लेख के माध्यम से आप सबको बताया जाएगा कि बोनस का कैलकुलेशन कैसे किया जाता है तथा इससे जुड़ी पूरी जानकारी आपसे साझा किया जाएगा.

तो अंत तक इस लेख को पढ़िए ताकि आप इसे समझ सके. तो आइए जानते हैं बिना देरी किए हुए एडहॉक बोनस के बारे में ताकि आपको समझ में आए की ये एडहॉक बोनस होता क्या है.

किन कर्मचारियों को मिलेगा फायदा 

यह बात तो आपको आर्टिकल के माध्यम से बता दिया गया कि केंद्रीय कर्मचारियों को केंद्रीय सरकार के तरफ से वेतन आयोग की सिफारिशें दीपावली से पहले 1 महीने का एडहॉक बोनस दिया जाएगा.

लेकिन यह बात आपके जानकारी में नहीं होगा कि किन कर्मचारियों को इसका फायदा मिलेगा. आपको अवगत करा दूं कि केंद्रीय कर्मचारी ग्रुप-बी और ग्रुप-सी कैटेगरी के अंदर आने वालों को भी बोनस दिया जाएगा. 

आपको अवगत करा दें कि ये वे केंद्रीय कर्मचारी है जो किसी प्रोडक्टिविटी लिंक्ड बोनस स्कीम में नहीं आते है. एडहॉक बोनस का लाभ का केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के कर्मचारियों को भी दिया जाएगा.

इसके अलावा जितने भी केंद्र सरकार के अंतर्गत कॉन्ट्रैक्ट बेसिस पर कर्मचारी काम करते हैं उन्हें भी एडहॉक बोनस का फायदा मिलेगा.

यहां तक की एडहॉक बोनस सिर्फ सरकारी कर्मचारियों को ही नहीं बल्कि बहुत सारे निजी संस्था में दिया जाता है.

इस लेख के माध्यम से आपको बताया जाएगा कि किस प्रकार से एडहॉक बोनस का कैलकुलेशन किया जाता है ताकि आप अपने 1 महीने के वेतन के आधार पर अपना बोनस का गणना कर सके और जान सके कि 1 महीने का बोनस कितना बनेगा तो आइए जानते हैं.

कैसे तय होगा कितना मिलेगा एड-हॉकबोनस 

कर्मचारियों की औसत वेतन, कैलकुलेशन की अधिकतम सीमा के अनुसार, जो भी इनकम हो, उसके अनुकूल बोनस जोड़ा जाता है.

आपको यह बात तो बता दिया है की 30 दिनों का मासिक बोनस लगभग एक महीने की वेतन के बराबर दिया जाता है.

उदाहरण के तौर पर यदि किसी कर्मचारी का वेतन 7000 रुपए मिल रहे हैं, तो उसका 30 दिनों का मासिक बोनस लगभग 6908 रुपए होगा.

इसमें गणना के हिसाब से 7000*30/30.4= 6907.89 रुपए (6908 रुपए) लगभग बनता है. 

इस तरह के बोनस का फायदा, केंद्र सरकार के उन कर्मचारियों को ही मिलेगा, जो 31 मार्च 2021 को सर्विस में रहे हैं कहने का मतलब है यदि कोई नया कर्मचारी 31 मार्च 2021 में ड्यूटी ज्वाइन किया होगा तभी इसका लाभ केंद्र कर्मचारी को दिया जाएगा.

साल 2020-21 के दौरान कम से कम छह महीने तक लगातार केंद्रीय कर्मचारी को ड्यूटी देना होगा.

अस्थाई कर्मचारियों को भी एडहॉक बेस पर बोनस दिया जाएगा. लेकिन यह ध्यान रहे कि इस बीच सर्विस के दौरान किसी भी प्रकार का ब्रेक नहीं होना चाहिए.

इन कर्मचारियों को भी मिलेगा बोनस

इस लेख में जानेंगे कि किन कर्मचारियों को एडहॉक बोनस का लाभ मिलेगा यदि आप एक सरकारी कर्मचारी है तो यह जानना जरूरी है कि आपको इसका लाभ मिल पाएगा कि नहीं मिल पाएगा. आइए जानते हैं किन कर्मचारियों को बोनस का लाभ मिलेगा. 

केंद्रीय सरकार की तरफ से दी गई सूचना के अनुसार, इसका फायदा सिर्फ केंद्रीय सरकार के उन कर्मचारियों को ही दिया जाएगा, जो सेवा में 31 मार्च 2021 से रहे हैं. 

वर्ष 2020-21 के दौरान केंद्र कर्मचारियों की ड्यूटी कम से कम छह महीने तक लगातार होनी चाहिए. 

एडहॉक बेस पर नियुक्त किए गए अस्थायी कर्मचारियों को भी बोनस का लाभ दिया जाएगा, लेकिन इस बीच सेवा में किसी प्रकार का ब्रेक नहीं होना चाहिए. 

यदि कोई कर्मचारी जो, 31 मार्च 2022 को या उससे पहले सेवा से बाहर हो गए हो, या फिर ऐसे कर्मचारी जो त्यागपत्र दे दिया हो या सेवानिवृत हुए हों, उसे विशेष केस माना जाएगा. 

जो अमान्य तरीके से मेडिकल आधार पर 31 मार्च से पहले रिटायर हो गए या मर गए हैं, लेकिन उन्होंने वित्तीय वर्ष में छह महीने तक अच्छे से ड्यूटी की हैं उन्हें एड-हॉक बोनस मिलेगा. 

संबंधित कर्मचारी की नियमित सेवा की निकटतम नंबर को आधार बनाकर ‘प्रो राटा बेसिस’ पर बोनस तय किया जाएगा.

ऐसे केस में उधार लेने वाले संगठन की जिम्मेदारी बनती है कि वह एडहॉक बोनस, पीएलबी, एक्सग्रेसिया और इंसेंटिव स्कीम आदि प्रदान करे, बस शर्त यही रहेगा की वहां ऐसे प्रावधान चलन में हों.

निष्कर्ष:

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा आज का यह आर्टिकल ‘केंद्रीय कर्मचारियों को कभी भी मिल सकती है खुशखबरी’ पसंद आया होगा।

इसके अंतर्गत हमने केंद्रीय कर्मचारी एवं पेंशनर्स को सरकार द्वारा क्या भत्ता प्रदान किया जाता है इसके बारे में सारी जानकारियां प्रदान की है, हमारे आर्टिकल अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Leave a Comment