7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों के 18 महीने का DA Arrear

अगर सरकार महंगाई के आंकड़े को देखते हुए जुलाई में (DA) को 4 फ़ीसदी तक बढ़ाती है तो इसका फायदा 5000000 कर्मचारियों और 6500000 पेंशन को मिलेगा. सरकारी कर्मचारियों को मिलने वाला (DA) उनकी सैलरी स्ट्रक्चर का हिस्सा होता है. 

सरकार अगले महीने केंद्रीय कर्मचारियों (Central Employees) को खुशखबरी दे सकती है.

खबर है कि इस साल दूसरी बार सरकारी कर्मचारियों को DA (Dearness Allowance) मैं बढ़ोतरी का ऐलान हो सकता है.

उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार महंगाई के आंकड़े को देखते हुए 5 फ़ीसदी तक (DA HIKE) बढ़ सकता है.

इसके अलावा सरकार कर्मचारियों को बकाया डीए (DA Arrear) का भुगतान कर सकती है.

कोविड-19 के वजह से सरकार ने कर्मचारियों का 18 महीने का डीए होल्ड कर दिया था.

कर्मचारी अब लगातार अपनी बकाया राशि की भुगतान की मांग कर रहे हैं. अभी कितना मिल रहा है दिए.

DA कब लगता है? 

सरकार अपने कर्मचारियों को महंगाई से राहत देने के लिए डीए में इजाफा करती है.

ऑल इंडिया कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (AICPI) के आधार पर साल में दो बार अपने कर्मचारियों का डीए तय किया जाता है. जनवरी और जुलाई में डीए में संशोधन किया जाता है.

जनवरी से डीए में तीन फीसदी का इजाफा किया गया था जिसके बाद यह 34 फीसदी हो गया था.

अभी कितना मिल रहा है डिए 

कर्मचारी लगातार जनवरी 2020 से जून 2021 तक रोके गए डिए की मांग कर रहे हैं. खबरों की मानें तो सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के खाते में एकमुश्त 1.50 लाख रुपए डाल सकती है.

हालांकि अभी इसको लेकर अभी तक सरकार की ओर से किसी भी तरह का बयान नहीं आया है.

2021 से अब तक सरकार 11 फ़ीसदी डिए मैं बढ़ोतरी कर चुकी है. इस साल मार्च में 3 फ़ीसदी का इज़ाफ़ा डिए मैं हुआ था.

फिलहाल कर्मचारियों को बेसिक सैलेरी पर 34 फ़ीसदी की दर से डिए का भुगतान किया जा रहा है.

एकमुश्त मिलेगा डीए एरियर 

कहां जा रहा है कि सरकार अगले महीने बकाया डीए का भुगतान करती है. तो वह बड़े हुए 11 फ़ीसदी को जोड़कर पैसा खाते में डालेगी.

जनवरी 2020, जून 2020, जनवरी 2021 के महंगाई भत्ते को करो ना के चलते फ्रिज रखा गया था.

खबरों की माने तो अब यदि 18 महीने के एरियर पर बात बनती है तो 11 प्रतिशत का एकमुश्त एरियर दिया जाएगा. डीए एरियर का पैसा कर्मचारियों को उनकी सैलरी बैंड के अनुसार मिलेगा. 

सैलेरी स्ट्रक्चर का हिस्सा है डीए 

अगर सरकार महंगाई के आंकड़े को देखते हुए जुलाई में डीए को चार फ़ीसदी तक बढ़ाती है. तो इसका फायदा 5000000 कर्मचारियों और 6500000 पेंशन को मिलेगा.

सरकारी कर्मचारियों को मिलने वाला डीए उनकी सैलरी स्ट्रक्चर का हिस्सा होता है. सरकार महंगाई के अनुसार डीए को बढ़ाती है, ताकि कर्मचारियों के जीवन स्तर पर किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हो. 

कितना होगा फायदा

देश में महंगाई दर लगातार रिजर्व बैंक के तय लक्ष्य से अधिक बनी हुई है. इसे देखते हुए कहा जा रहा है कि सरकार अगले महीने कर्मचारियों के डीए में 4-5 फीसदी तक का इजाफा तर सकती है.

एक अनुमान के मुताबिक अभी किसी कर्मचारी की बेसिक सैलरी अगर 18,000 रुपये है, तो 34 फीसदी के हिसाब से उसका महंगाई भत्ता 6,120 रुपये बनता है.

अब अगर ये 38  फीसदी होता है तो कर्मचारी को 6,840 रुपये का महंगाई भत्ता मिलेगा. इस तरह से उन्हें सालाना सैलरी 8,640 रुपये ज्यादा मिलेंगे.

AICPI के आंकड़े के मुताबिक डीए 

लेबर मिनिस्ट्री हर महीने के आखिर में पिछले महीने का (AICPI) आंकड़ा जारी करती है. इसमें इंडेक्स महंगाई की तुलना में यह दर्शाता है कि कर्मचारियों को महंगाई से निपटने के लिए कितना भत्ता मिलना चाहिए.

पहली छमाही के आंकड़ों से साफ है कि डीए मैं 4 फीट की बढ़ोतरी होनी चाहिए. मतलब कुल डीए बढ़कर 38 फ़ीसदी हो जाएगा.

कर्मचारी यूनियन को भी उम्मीद है कि सितंबर के आखिर में इस पर फैसला हो जाएगा. इससे केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ी राहत मिलेगी. 

किसकी कितनी बढ़ेगी सैलरी?

7th CPC न्यूनतम सैलरी 18000 रुपए पर कैलकुलेशन

  •  कर्मचारी की बेसिक सैलरी                     18,000 रुपए
  •  नया महंगाई भत्ता (38%)                       6840 रुपए/महीने
  •  अबतक महंगाई भत्ता (34%)                  6120 रुपए/महीने
  •  कितना महंगाई भत्ता बढ़ा                       6840-6120 = 720 रुपए/महीने
  •  सालाना सैलरी में इजाफा                       540X12= 8640 रुपए

नोट:- यह अनुमान है है कि आधार पर सैलरी. इसमें HRA जैसे अकाउंट जुड़ने के बाद ही फाइनल सैलेरी ( Final Salary) बन पाएगी.

दूसरे अलाउंस में भी मिलेगा फायदा: 

साल के अंत तक केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सिर्फ महंगाई भत्ता (Dearness Allowance) ही नहीं बढ़ेगा. बल्कि दूसरे अलाउंस में भी इजाफा होगा.

इसमें ट्रैवल अलाउंस (Travel Allowance) और सिटी अलाउंस (City Allowance) शामिल हैं.

वहीं, रिटायरमेंट के लिए प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) और ग्रेच्युटी (Gratuity) में भी बढ़ोतरी होगी. ऐसा इसलिए है क्योंकि, महंगाई भत्ता बढ़ने का असर इन सभी अलाउंसेज पर पड़ता है.

कैलकुलेशन में शामिल नहीं है HRA 

7th CPC के तहत 38 फीसदी महंगाई भत्ते के हिसाब से 56900 रुपए की बेसिक सैलरी पर कुल सालाना महंगाई भत्ता 259,464 रुपए होगा.

लेकिन, 34 फीसदी के मुकाबले अंतर की बात करें तो सैलरी में सालाना इजाफा 27312 रुपए का होगा.

हालांकि, फाइनल सैलरी कितनी होगी इसका कैलकुलेशन HRA समेत दूसरे भत्ते जोड़ने के बाद पता चलेगा. ये आसान कैलकुलेशन सिर्फ एक आइडिया के लिए की गई है.

निष्कर्ष:

जैसा कि दोस्तों हमने आपको 7th Pay Commission की सारी जानकारी अपने इस लेख के जरिए आपको बताने की कोशिश की है. और यह भी बताया है कि 7th Pay Commission की नई अपडेट क्या है.

अगर फिर भी 7th Pay Commission से जुड़ा कोई अन्य सवाल हो जिसे हम इस लेख के जरिए पूरा ना कर सके. तो आप हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं आपके पूछे गए प्रश्नों का जवाब हम देंगे.

Leave a Comment