Business Idea: काले गेहूं से आप कमा सकते हैं लाखों रूपए, जानिए कैसे होती है खेती

Business Idea: नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का हमारे इस लेख में, नमस्कार , आज के हमारे इस आर्टिकल में आप सभी पाठकों का स्वागत है हम आशा करते हैं कि आप आपका समस्त परिवार आपके सभी सगे संबंधी तथा मित्र सकुशल प्रसन्नता स्वस्थ होंगे। 

आज का हमारे आर्टिकल बहुत ज्यादा खास होने वाला है क्योंकि आर्टिकल के माध्यम से हम आप सभी पाठकों के साथ एक ऐसा बिजनेस आइडिया शेयर करने वाले हैं इसे जानने के पश्चात आपको एक समय के लिए ऐसा अवश्य ही लगेगा कि आपको साथी ट्राई करना चाहिए। आपकी उत्सुकता पर विराम लगाते हुए चले प्रारंभ करते हैं आज के हमारे आर्टिकल जानने की कोशिश करते हैं कि आखिर क्या है बिजनेस आइडिया जो आपको अच्छी खासी कमाई प्रदान कर सकता है। 

किसानों का योगदान

इस बात से तो सभी भलीभांति परिचित है कि हमारे देश में किसानों का बहुत ही अधिक सम्मान किया जाता है। क्योंकि एक और जहां वे मेहनत मजदूरी करके अपने खेतों के माध्यम से अन्न को उपजाते हैं वहीं दूसरी और उन्हें अन्ना का सेवन करके हम अपना जीवन यापन करते हैं। 

हमारे देश में किसानों का पालन हारा भी कहा जाता है। तो क्योंकी मेहनत का परिणाम है कि आज हम घर बैठे बैठे केवल कुछ रुपयों का भुगतान करके भोजन हेतु अन्य प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि यह बात अलग है कि इनका जीवन संघर्ष में है और इसके सुधार हेतु सरकार बहुत ही अधिक क्रियाशील है तथा बहुत सी योजनाएं जा रही है। 

वाणिज्य फसलों से होगा फायदा

आप पाठक इस बात को अवश्य ही जानते होंगे कि फसलों को दो उद्देश्य से उगाया जाता है किसान सर्वप्रथम अपने परिवार के पालन पोषण हेतु अन्न को उपजाते तथा अपने परिवार की आवश्यकता अनुसार ही खेती करते हैं। यह दूसरे तरीके की बात की जाए तो किसानों के द्वारा मुनाफा  प्राप्ति हेतु भी कृषि की जाती है। इसमें किसान उन फसलों को उत्पादित करते हैं|

जिनकी आवश्यकता बाजार में होती है और उन्हें बेच करके वे अपने वर्षभर का खर्च निकालने का प्रयास करते हैं। किसानों के द्वारा मुख्य रूप से दो फसलों का उपजाया जाता है सर्वप्रथम तो जिनका मुख्य उद्देश परिवारों का ही पालन पोषण होता है तथा दूसरे और वे वाणिज्यिक फसलों को भी उपजाया जाता हैं जिसका मुख्य उद्देश्य फसल से मुनाफा प्राप्त करना होता है। 

खेती की तकनीकों में परिवर्तन

जैसा कि आप सब पाठक जानते हैं कि आज का युग आधुनिकता का योग कहलाता है और ऐसे आधुनिकता भरे युग में जहां सब कुछ आधुनिक हो चुका है वहां भरा खेती पीछे क्यों रह जाए। कहने का तात्पर्य है कि जहां पहले किसानों के द्वारा कड़ी मेहनत करके बड़ी-बड़ी जमीनों के माध्यम से केवल थोड़ा सा अन्य उस जाया जाता था वहीं इन दिनों आधुनिकीकरण के परिणाम स्वरूप खाद्य तथा रसद की उपलब्धता के कारण कम जमीन में भी अधिक अनाज उप जाया जा सकता है। 

इसका सर्वाधिक लाभ किसानों को पड़ा है जहां वह पहले हल से खेतों की जुताई करते थे इत्यादि की सहायता से खेतों की जुताई करते हैं जिससे कम से कम मेहनत में वह अपने खेत को जोत देते हैं। इसके साथ ही रासायनिक उर्वरक तथा खाद्य से फसल की पैदावार में भी बहुत ही अधिक वृद्धि आई है। इसका सर्वप्रथम तथा अप्रत्यक्ष लाभ हमारे देश के महान किसानों को मिला है। 

उगाए यह फसल और करे कमाई हजारों में

यदि आप भी कृषि क्षेत्रों से संबंधित है तो आपके लिए एक सुनहरा अवसर हमेशा आर्टिकल के माध्यम से लेकर आए हैं। आज का हमारे आर्टिकल बहुत ही ज्यादा खास होने वाला है क्योंकि इस आर्टिकल के माध्यम से हम आप सभी पाठकों के साथ एक ऐसे फसल के विषय में विवरण साझा करने वाले हैं जिससे आपको अच्छी खासी रकम प्राप्त हो सकती है। 

हम आपको बता दें कि इस आधुनिकता के युग में जहां सब कुछ आधुनिक हो चुका है और खेती भी लगभग आधुनिक हो ही चुकी है में एक ऐसे फसल को गाना लाभकारी माना जा सकता है जिसकी मांग बाजारों में सर्वाधिक है। यदि आप सोच रहे हैं कि चावल गेहूं या फिर तिलहन जैसी कोई फसलें तो ऐसा नहीं है। यदि आप चाहे तो काले गेहूं की खेती करके अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। आपको बता काले गेहूं की खेती से जो लाभ प्राप्त होता है उसको देखकर किसानों का रुझान इसकी और बढ़ रहा है। 

जाने क्या है मूल्य

आप काले गेहूं की खेती करते हैं तो इसका मूल्य मार्केट में ₹8000 प्रति क्विंटल है। जो कि साधारण गेहूं की तुलना में 4 गुना अधिक है। आपको बता देंगे साधारण गेहूं का मूल्य बाजार में ₹2000 प्रति क्विंटल है। 

काले गेहूं की फसल से जुड़ी कुछ जरूरी बातें

यदि आप काले गेहूं की खेती करते हैं तो वह रवि के मौसम में की जाती है इसके साथ ही इसकी बुवाई कैसे बात की जाती है नवंबर के महीने में सर्वोत्तम मानी जाती है। इसके वास्ते नवमी भरपूर मात्रा में चाहिए होती है नवंबर के पश्चात काले गेहूं की बुवाई करने पर पैदावार में थोड़ी सी कमी आ जाती है। काले गेहूं की खेती में जिंक तथा यूरिया डालकर आवश्यकताओं को पूर्ण किया जा सकता है। एक बीघे में 1000 से लेकर के 1200 तक काले गेहूं का उत्पादन किया जा सकता है। 

business idea

इस प्रकार सहायक है यह

यदि इसके फायदे की बात की जाए तो इसका फायदा कैंसर डायबिटीज मानसिक तनाव घुटने का दर्द एनीमिया जैसे रोगों में मिलता है। इसमें तो एंथोसाइनीन पिगमेंट की मात्रा भरपूर होती है इसके कारण या काला दिखाई देता है। काले गेहूं की बात करें तो  इसमें एंथोसाइनीन की मात्रा केवल 5 से लेकर के 15 पीपीएम होती है। काले गेहूं में स्कीमाता 40 से लेकर के 140 पीपीएम होती है। 

काले गेहूं मे क नेचुरल एंटीऑक्सीडेंट तथा एंटीबायोटिक एंथ्रोसाइनीन भरपूर मात्रा में होता है। काले गेहूं में बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं इसके साथ ही इसमें आयरन भरपूर मात्रा में होता है इस वजह से यह कैंसर ब्लड प्रेशर मोटापा शुगर जैसी बीमारियों में सहायक सिद्ध होता है। 

निष्कर्ष:-

आज किस आर्टिकल के माध्यम से हमने आप सभी पाठकों के साथ एक बिजनेस आइडिया शेयर किया है जो की खेती पर आधारित था। हमने आपसे यह भी साझा किया है कि काले गेहूं की खेती आपको कितना मुनाफा प्रदान कर सकती है। हम आशा करते हैं हमारे द्वारा प्रदान की गई है सभी जानकारी आपको बहुत ज्यादा पसंद आई होगी, धन्यवाद। 

महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ें:-

Important Links

CGWAS HomeClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Leave a Comment