Business Idea: 15 हजार रु में शुरू करो और 1 लाख रु हर महीने कमाओ

Business Idea: नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का हमारे इस लेख में, मानव का जीवन प्रकृति तथा पर्यावरण के इर्द-गिर्द घूमता रहता है। ऐसे में प्रत्येक मानव का यह कर्तव्य होता है कि वह अपने पर्यावरण तथा प्रकृति का ख्याल रखें और उसे साफ सुथरा तथा स्वच्छ रखें। किंतु जहां हमारे प्रकृति तथा पर्यावरण के साफ-सफाई में हमारा सब से बड़ा योगदान होना चाहिए वहां उसका विपरीत हो रहा है। हमारी प्रकृति व पर्यावरण को साफ ना रखेंगे उल्टा हम ही इन्हें दूषित पर दूषित किए जाते हैं। 

ऐसे में यह ना केवल प्रकृति के लिए हानिकारक है यदि आगे की देखे तो हमारे जीवन को भी प्रभावित करने में सक्षम है। इसका नकारात्मक प्रभाव अभी से पर्यावरण में देखने को मिल सकता है और वह दिन भी दूर नहीं है जब इसका नकारात्मक प्रभाव हम मानव जाति में देखने को मिलेगा। 

मानव के द्वारा उत्पादित सबसे ज्यादा कूड़ा

यदि इस पृथ्वी में विद्यमान सभी जीवो की तुलना एक दूसरे से करें कि कौन सबसे ज्यादा प्रदूषण उत्पन्न करता है तो इसमें निसंदेह रूप से मानव सर्वप्रथम होगा। क्योंकि इस संसार में जहां-जहां पर मानव के कदम पड़े हैं वहां पर केवल और केवल प्रदूषण फैला है। इस प्रदूषण से सभी लोग प्रभावित हो रहे हैं न केवल प्रकृति और मनुष्य अपितु इस पृथ्वी में विद्यमान अन्य जंतुओं के भी अस्तित्व में बात आन पड़ी है। प्रदूषण के परिणाम स्वरुप ही बहुत से दुर्लभ प्रजाति के जीव जंतु विलुप्त हो चुके हैं। यदि इतना सब कुछ होने के पश्चात भी हमारे द्वारा फेलाए जाने वाले प्रदूषण में यदि काबू नहीं किया जाता है तो वह दिन भी दूर नहीं जब यह हमारे अस्तित्व पर आन पड़ेगी। 

प्लास्टिक , जितना सस्ता उतना ही घातक

यदि प्लास्टिक की बात करें तो यह बहुत ही ज्यादा प्रयोग किए जाने वाला पदार्थ है। प्लास्टिक अन्य वस्तुओं तथा पदार्थों की तुलना में ना ही जल्दी सड़ता है , ना ही जल्दी गलता है , और ना ही जल्दी टूटता है‌।इसकी इसी खूबी की वजह से इसका प्रयोग बहुत ही अधिक मात्रा में किया जाता है। क्योंकि यह नहीं जल्दी गलता है ना सड़ता है इसी वजह से इसको हमारा इन्वायरमेंट एडजस्ट नहीं कर पा रहा है। 

परिणाम हुआ यह कि पर्यावरण के साथ-साथ पर्यावरण में रहने वाले सभी जीवो के लिए घातक सिद्ध हो रहा है। बेचारे पशु तो नासमझ होते हैं उन्हें इन चीजों का ज्ञान नहीं होता है और वे जाने अनजाने में प्लास्टिक को खा लेते हैं और उनकी तड़प तड़प कर मृत्यु हो जाती है। 

प्लास्टिक अथवा रबर ट्यूब का रीसायकल

प्लास्टिक और रबर ट्यूब अर्थात जो ट्यूब गाड़ी में प्रयोग किए जाते हैं वह एक बार प्रयोग होने के पश्चात पूरी तरह से बेकार पड़ जाते हैं फिर उनका प्रयोग दोबारा से वाहनों में नहीं किया जाता है। इसका परिणाम यह होता है कि यह रबड़ तथा प्लास्टिक का कूड़ा बहुत ही अधिक मात्रा में हमारे पर्यावरण में एकत्रित हो रहा है। 

कूड़ा करकट ना केवल एकत्रित होता है अपितु इससे संपूर्ण पर्यावरण दूषित होता है। ऐसे में हमारे पर्यावरण को बचाने हेतु लोगों के द्वारा बहुत से कार्यों को किया जा रहा है। जैसे कि अधिक से अधिक पेड़ लगाना और कूड़ा उत्पादित करने वाले वस्तुओं का प्रयोग कम से कम करना। प्लास्टिक को रिसाइकल भी किया जा रहा है जैसे कि प्लास्टिक के माध्यम से कारपेट या फिर अन्य उपयोग के अथवा सजावटी चीजों का निर्माण किया जा रहा है जिससे कि कूड़े को कम किया जा सके। कूड़े करकट को इस प्रकार से परिवर्तित करके उपयोगी वस्तुओं में रूपांतरित करना प्लास्टिक कुडे का रीसायकल कहलाता है। 

इससे कमा सकते हैं आप लाभ

क्योंकि हमारे द्वारा हमारे पर्यावरण को बचाने हेतु अथक प्रयास किए जा रहे हैं इसी दौरान आप कुछ ऐसे क्रियाकलाप भी कर सकते हैं जिनसे आप पर्यावरण की रक्षा भी कर सकते हैं और स्वयं का लाभ भी साध सकते हैं। गाड़ियों में जो टायर प्रयोग किए जाते हैं उनके एक बार प्रयोग किए जाने के पश्चात दोबारा से गाड़ियों में प्रयोग नहीं किया जा सकता इस वजह से वह बेकार हो जाते हैं। किंतु उन बेकार कूड़े करकट का प्रयोग करके आप स्वयं का स्टार्टअप बिजनेस शुरू कर सकते हैं। 

बस आप थोड़ी सी मेहनत करके इन वेस्ट टायर को सीटिंग चेयर अथवा टेबल में परिवर्तित करके भेज सकते हैं। यदि आप सोच रहे होंगे कि आपको मार्केटिंग करने की भी आवश्यकता पड़ेगी तो आपको बता दें कि इसकी आवश्यकता कदापि नहीं है। यह बिल्कुल भी आवश्यक नहीं है कि आप अपने द्वारा बनाए गए रीसायकल प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग करे आपको केवल अपने द्वारा बनाए गए चीजों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर बेच देना है।इन ऑनलाइन प्लेटफॉर्म कि यदि बात की जाए तो आप अमेजॉन , फ्लिपकार्ट या फिर मिशो में खुद को सेलर के तौर पर रजिस्टर करके अपने द्वारा उत्पादित वस्तुओं को बेच सकते हैं। 

जाने कितने का होगा मुनाफा

यदि आप सोच रहे होंगे कि आपके द्वारा उत्पादित इन सभी वस्तुओं को कोई भी नहीं खरीदेगा तो आप बिल्कुल भी गलत सोच रहे हैं क्योंकि अभी सभी की पसंद इन दिनों यूनिक तथा एंटीक चीजों पर आ चुकी है। प्रत्येक व्यक्ति अपने घर को सजाने हेतु सुंदर से सुंदर चीजें खरीदने का इच्छुक होता है ऐसे में यदि आप खूबसूरत डिजाइन वाले रीसाइकिल्ड प्रोडक्ट्स को उत्पादित करेंगे तो निसंदेह रूप से लोग उन्हें खरीदेंगे। और इससे आपको मुनाफा भी होगा क्योंकि लागत तो आपकी इसमें ना के बराबर है क्योंकि इसमें आपकी मेहनत ही केवल आवश्यकता है। 

प्लास्टिक बैग रिसाइकल प्रोडक्ट

यदि प्लास्टिक बैग्स की बात करें तो इतने ज्यादा सस्ते होते हैं कि जब भी आप बाजार जाते हैं , आपको कोई ना कोई दुकानदार जरूरत देता है। किंतु यह प्लास्टिक बैग्स जितने ज्यादा सस्ते और उपलब्ध है उतने ही ज्यादा हमारे पर्यावरण के लिए हानिकारक है। क्योंकि इनको अपने आप में पूरी तरह से समाप्त  होने में बहुत ही अधिक समय लगता है। और जितना समय एक प्लास्टिक बैग को अपने आप समाप्त होने में लगता है उतने समय में न जाने कितने सारे प्लास्टिक बैग्स का प्रयोग करके हम फेंक देते हैं। 

इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारे सरकार के द्वारा इन प्लास्टिक बैग्स के प्रयोग पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है। किंतु प्लास्टिक वेस्ट के प्रयोग करके आप सुंदर-सुंदर डेकोरेटिंग चीजें बनाकर बेच सकते हैं। 

business idea

निष्कर्ष:-

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको वेस्ट प्रोडक्ट को रिसाइकल करके डेकोरेटिंग तथा यूजेबल चीजों को बनाने की विषय में जानकारी प्रदान की है। हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा बताई गई है सभी जानकारी आपको बेहद पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को अधिक से अधिक लोगों के साथ जरूर शेयर करें,धन्यवाद। 

महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ें:-

Important Links

CGWAS HomeClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Leave a Comment