GST On Dairy Products: आज से GST की नई दरें लागू, दूध-दही, पनीर से लेकर ये सब चीजें हुई महंगी, पूरी सूची की जाँच करें

GST Portal Latest Update: वस्तु एवं सेवा कर में बदलाव सोमवार 18 जुलाई 2022 से पूरे देश में लागू किया जा रहा है, जिसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ेगा। नई दरों के आने से आज से कई उत्पाद महंगे हो गए हैं। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में जीएसटी परिषद ने अपनी पिछली बैठक में डिब्बाबंद या पैकेज्ड और लेबल (जमे हुए को छोड़कर) मछली, दही, पनीर, लस्सी, शहद, सूखा मखाना, सूखा सोयाबीन, मटर, गेहूं और जैसे उत्पादों को मंजूरी दी। अन्य अनाज। और मुरमुरे पर पांच प्रतिशत जीएसटी लगाने का फैसला किया। हालांकि, खुले में बेचे जाने वाले अनब्रांडेड उत्पादों पर जीएसटी छूट जारी रहेगी।

वित्त मंत्रालय ने सोमवार को प्री-पैकेज्ड और लेबल वाले उत्पादों पर जीएसटी दर को लेकर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न जारी किए, जिसमें इस पर उठने वाले सवालों के जवाब दिए गए हैं।

क्या-क्या महंगा हुआ?

GST Portal Latest Update: आटा, पनीर, लस्सी और दही जैसे पहले से पैक और लेबल वाले खाद्य पदार्थ महंगे हो जाएंगे। शहद, सूखा मखाना, सूखा सोयाबीन, मटर, गेहूं और अन्य अनाज और मुरमुरे जैसे उत्पाद भी महंगे हो जाएंगे। प्री-पैकेज्ड, लेबल वाला दही, लस्सी और पनीर पर 5% जीएसटी लगेगा। चना, खोई, चावल, शहद के अनाज, मांस, मछली भी इसमें शामिल हैं।

  • टेट्रा पैक और बैंक द्वारा चेक जारी करने पर 18 प्रतिशत जीएसटी और एटलस सहित मानचित्र और चार्ट पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगाया जाएगा।
  • ‘प्रिंटिंग/ड्राइंग इंक’, शार्प नाइफ, पेपर कटिंग नाइफ और ‘पेंसिल शार्पनर’, एलईडी लैंप, ड्रॉइंग और मार्किंग प्रोडक्ट्स पर टैक्स की दर को बढ़ाकर 18 फीसदी कर दिया गया है। सोलर वॉटर हीटर पर अब 12 फीसदी जीएसटी लगेगा, जो पहले पांच फीसदी था।
  • 5,000 रुपये से अधिक के किराए वाले अस्पताल के कमरों पर भी जीएसटी देना होगा। इसके अलावा एक हजार रुपए प्रतिदिन से कम किराए वाले होटल के कमरों पर 12 प्रतिशत की दर से टैक्स लगाने की बात कही गई है।
  • बागडोगरा से उत्तर-पूर्वी राज्यों की हवाई यात्रा पर जीएसटी छूट अब केवल ‘अर्थव्यवस्था’ श्रेणी तक के यात्रियों के लिए उपलब्ध होगी।

महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ें:-

जीएसटी कहाँ कम किया गया है?

  • रोपवे और कुछ सर्जिकल उपकरणों के माध्यम से माल और यात्रियों के परिवहन पर कर की दर को घटाकर पांच प्रतिशत कर दिया गया है। पहले यह 12 फीसदी था।
  • माल के परिवहन के लिए उपयोग किए जाने वाले ट्रक, वाहन, जिसमें ईंधन की लागत भी शामिल है, पर अब 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा, जबकि वर्तमान में यह 18 प्रतिशत है।
gst on dairy products

निष्कर्ष-

दोस्तों हमने इस लेख में आप लोगों को हमारे देश में बढ़ती टैक्स के बारे में बताया है कि अब रोजमर्रा में काम आने वाली सभी चीजों पर सरकार टैक्स बढ़ाएगी जिससे काफी कुछ महंगा हो जाएगा यदि यह लेख आप लोगों को इनफॉर्मेटिक लगा तो इसे जरूर लोगों तक शेयर करें और कुछ विशेष टिप्पणी के लिए आप कमेंट का माध्यम ले सकते हैं धन्यवाद!

Important Links

Official WebsiteClick Here
CGWAS HomeClick Here
Join TelegramClick Here

Leave a Comment