Ration Card ATM: अब एटीएम मशीन से निकलेगा गेहूं-चावल, राशन डीलरों का चक्कर खत्म

Ration Card ATM: नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का हमारे इस लेख में,  आज का हमारे आर्टिकल बहुत ही खास होने वाला है। क्योंकि इस article के माध्यम से हम आपको एक बहुत ही अधिक रोचक बात बताने वाले हैं। यदि आप इस रोचक विषय में जानना चाहते हैं तो उसके लिए अति आवश्यक है कि आप हमारे आर्टिकल को आप जरूर पढ़ें। 

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको राशन एटीएम Ration ATM के विषय में जानकारियां प्रदान करने वाले हैं। यह शब्द शायद आपके लिए नया ना होगा। आप पाठकों में से कुछ पाठक ऐसे अवश्य होंगे जो इस शब्द को पहले सुन या पढ़ चुके हैं। आप सभी पाठकों में से ज्यादातर लोगों ने एटीएम अर्थात ऑटोमेटिक टेलर मशीन का नाम सुना होगा या फिर इसे प्रयोग में लाया होगा। एटीएम से पैसे निकलते हैं इस बारे में तो सभी जानते ही हैं। किंतु एटीएम से राशन मिलने लगे तब कैसा होगा!

जाने क्या है ऑल टाइम ग्रेन अर्थात एटीजी

आज का हमारा टॉपिक एटीजी है अर्थात ऑल टाइम ग्रेन। जिस प्रकार से एटीएम मशीन से व्यक्ति अपने पैसों को निकालते हैं उसी प्रकार से मतलब टाइम मशीन से लोग अपना राशन प्राप्त करेंगे। वास्तविकता में बात यह है कि ओडिशा सरकार राशन डिपो पर एटीएम मशीन की तरह ही ऑल टाइम ग्रीन अर्थात एटीजी मशीन को राशन देने के स्थान पर प्रयोग करने वाली है। 

अभी हाल फिलहाल में ही पीटीआई की ओर से एक खबर निकल कर आ रही है जिसके अनुसार ओडिशा में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत लाभार्थियों को अनाज उपलब्ध कराने के वास्ते एटीजी (ATG) मशीनों का प्रयोग किया जाने वाला है। खाद आपूर्ति तथा उपभोक्ता कल्याण मंत्री अतनु एस नायक ने बुधवार को यह जानकारी प्रदान की है। उनके द्वारा प्रदान की गई जानकारी के अनुसार एटीजी मशीन एटीएम की तरह ही होंगे। किंतु इन के माध्यम से अनाज को प्राप्त किया जा सकेगा।  

जाने किस प्रकार से काम करेगा यह ग्रेन राशन कार्ड है

सभी राशन कार्ड धारकों को स्वयं का आधार कार्ड नंबर तथा राशन कार्ड पर अंकित नंबर को ग्रीन एटीएम में दर्ज करने की आवश्यकता होगी। इतना करने के पश्चात उन्हें एटीएम से अनाज प्राप्त हो जाएगा। सरकार ने अभी इसे पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत शुरू किया है। बता दे योजना के अंतर्गत पहला ग्रह एटीएम भुनेश्वर में लगाए जाएंगे। प्रारंभ में इन राशन एटीएम मशीनों को शहरी क्षेत्रों में लगाया जाएगा तत्पश्चात इन्हें ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित किया जाएगा। 

प्रत्येक जिले में मिलेगा राशन एटीएम

खाद आपूर्ति तथा उपभोक्ता कल्याण मंत्री अतनु सब्यसाची अभी मंगलवार को ही इस योजना के विषय में ओडिशा विधानसभा में जानकारी को प्रदान किया है। उन्होंने इस विषय में कहा है कि ओडिशा में खेत धारकों को ग्रीन एटीएम से राशन प्रदान किए जाने की तैयारियां की जा रही है। 

इसके साथ ही इन ग्रेड एटीएम मशीनों को शहरी क्षेत्रों में शुरुआती तौर से लगाया जाएगा उसके पश्चात सभी जिलों में खास एटीएम मशीनों को लगवाने की नीति तैयार की गई है। इसके साथ ही इसके के अगले चरण में प्रदेश के सभी जिलों में ग्रीन एटीएम लगाने की योजना बनाई गई है। 

जाने क्या है आवश्यक

यदि आप राशन एटीएम से राशन प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए राशन एटीएम में आपको विशेष कोर्ट की आवश्यकता पड़ सकती है। मंत्री सब्यसाची ने इस बात की स्पष्टीकरण प्रदान की है कि ग्रेड एटीएम से राशन लेने के वास्ते हित धारकों को एक विशेष प्रकार का कोड तथा कार्ड प्रदान किया जाएगा। आपको बता दें कि गृह एटीएम मशीन पूरी तरह से टच स्कीम होगी।इसके साथ ही इसमें बायोमेट्रिक सुविधाएं भी उपस्थित होंगी।

जाने सबसे पहला राशन एटीएम कहां लगा

आपकी जानकारी के लिए हम आप को इस बात से अवगत करा दे देश में पहला ग्रेट एटीएम हरियाणा राज्य के गुरुग्राम में लगाया गया था। विश्व खाद्य कार्यालय के अंतर्गत सरकार के माध्यम से इस मशीन को बढ़ावा प्रदान किया जा रहा है। इसे ‘अटोमेटेड, मल्टी कमोडिटी, ग्रेन डिस्पेंसिंग मशीन’ के नाम से भी जाना जाता है। 

जानिए पुराने तरीके

अभी बात है राशन एटीएम आने के पूर्व की तो उस मैं राशन प्राप्ति हेतु राशन कार्ड धारक को अपना फिंगरप्रिंट डीलर के पास एक मशीन में देने की आवश्यकता होती है। तत्पश्चात ही मशीन के द्वारा अप्रूव करने के परिणाम स्वरूप लाभार्थी को राशन प्रदान किया जाता है। 

किंतु इससे पूर्व कि यदि बात की जाए जहां पर मशीन नहीं थे तब राशन वितरण करता के पास एक डायरी हुआ करती थी जिसमें वह सभी लाभार्थियों के नाम सिग्नेचर तथा उन्हें प्रदान की जाने वाली अनाज का ब्योरा रखता था। यह तो समय के साथ-साथ इन सभी चीजों में बदलाव होते गए और कॉपी कलम से हटकर फिंगरप्रिंट वाले मशीनों तक आ गया और अब इसके पश्चात राशन प्राप्त करने हेतु ग्रीन एटीएम मशीन का प्रयोग किया जाएगा।

राशन कार्ड के प्रकार

राशन कार्ड के प्रकार यदि बात की जाए तो राशन कार्ड योजना के तहत मध्य मध्य तथा निम्न वर्गीय परिवारों को शामिल किया गया है। इनमें फर्क किया जा सके इस वजह से राशन कार्ड को विभिन्न कैटेगरी में बांटा गया है। इसके विषय में आपको चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि हम सारे विवरण प्रदान करने वाले हैं। 

  • एपीएल राशन कार्ड :- हमारे देश में एपीएल राशन कार्ड ऑनलाइन क्यों को प्रदान किया जाता है जो अपना जीवन यापन गरीबी रेखा के नीचे करते हैं और इसके साथ ही उनकी वार्षिक आय ₹10000 से अधिक होती है। 
  • बीपीएल राशन कार्ड :- बीपीएल राशन कार्ड हमारे देश में लोगों को प्रदान किया जाता है जो अपना जीवन यापन गरीबी रेखा के नीचे करते हैं। इसके साथ ही उनकी वार्षिक आय ₹1000 से अधिक नहीं होती है। 
  • अंत्योदय राशन कार्ड :- हमारे देश में प्रदान किए जाने वाला यह सबसे ज्यादा दुर्लभ राशन कार्ड है। चकिया उन लोगों के बल प्रदान किया जाता है जिनके पास आय का कोई स्रोत ही नहीं होता है। 
ration card atm

निष्कर्ष:-

आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आप सभी पाठकों के साथ राष्ट्रीय नीतियों के विषय में विस्तार पूर्वक सभी जानकारियां साझा की है। हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा प्रदान की गई है सभी जानकारियां आपको बहुत ही पर अधिक पसंद आई होगी ,धन्यवाद। 

महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ें:-

Important Links

Official WebsiteClick Here
Check Ration Card New ListClick Here
CGWAS HomeClick Here
Join TelegramClick Here

Leave a Comment