Salary Hike in 2023: खुशखबरी! प्राइवेट नौकरी वालों के ल‍िए सबसे बड़ी खबर, अगले साल होगा इतना इंक्रीमेंट

Salary Hike in 2023: नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का हमारे इस लेख में, जैसा कि इस बारे को सभी जानते हैं कि हमारे देश में नौकरी प्रदान करने वालों की संख्या नौकरी प्राप्त करने वालों की संख्या से बहुत कम है। जिस वजह से इस नौकरी के क्षेत्र में बहुत ही अधिक कंपटीशन का सामना करना पड़ता है। किसी भी जॉब प्राप्ति हेतु प्रतियोगिता परीक्षा उत्तीर्ण कर इंटरव्यू को पास करके किसी व्यक्तियों को नौकरी प्रदान की जाती है। 

किंतु जितने कठिनता से व्यक्तियों को जॉब उपलब्ध होती है। उसमें उन्हें उतना ही अधिक मेहनत करना पड़ता है। मेहनत के परिणाम स्वरूप उन्हें बहुत सी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है। उनमें से कुछ मुख्य सुविधाओं के विषय में हम आज इस आर्टिकल में विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे। यदि आप भी एक जॉब वर्कर है तो हमारे इस आर्टिकल के साथ अंत तक जरूर जुड़े रहे । 

सैलेरी हाइक क्या है

Salary Hike in 2023: सभी जॉब वर्कर्स को हर महीने सैलरी प्रदान की जाती है। उन्हें उनकी कार्यकुशलता के अनुसार जॉब प्रमोशन दी जाती है। किंतु इसके अतिरिक्त समय-समय पर उनके वेतन में भी वृद्धि की जाती है। वर्ष 2022 की तुलना में 2023 में ज्यादा सैलरी इंक्रीमेंट होने की संभावना उत्पन्न हो रही है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार देश में कंपनियां वर्ष 2023 में 10% तक वेतन बढ़ा सकती है। जैसे ही यह खबर सबके सामने आई है सभी जॉब करने वाले लोग खुशी से मानो झूम उठे हैं। यदि आप भी नौकरी करने वाले लोगों में शामिल है तो इस आर्टिकल के माध्यम से हम पूर्णता सुनिश्चित है कि आपको प्रसन्नता ही होगी। 

जैसा कि इस बात से सभी परिचित है कि वर्ष 2022 के इंक्रीमेंट साइकिल पूरा हो चुका है। तब से ही सभी नौकरी करने वाले लोग 2023 में मिलने वाले वेतन वृद्धि का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। और इसी बीच खबर आई है कि वर्ष 2023 में कंपनियां 10% तक का की वृद्धि वेतन में कर सकती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनियों को अभी थोड़ा मुश्किल हालातों से जूझना पड़ रहा है। 

नियोक्ताओं ने सैलेरी इंक्रीमेंट का बजट बढ़ा दिया

Salary Hike in 2023: नियोक्ताओं ने सैलेरी इंक्रीमेंट का बजट बढ़ा दिया है। ग्लोबल कंसलटेंट , ब्रोकिंग तथा सॉल्यूशन सर्विस  करवाने वाले कंपनी विलिस टावर्स वाटसन की रिपोर्ट में यह देखने को मिलता है कि भारत में कंपनियां 2022-23 के समय 10% वेतन बढ़ाने के वास्ते व्यवस्था  कर रही है। पिछले वर्ष वास्तविक वेतन वृद्धि 9.5% के आसपास है। रिपोर्टों के मुताबिक भारत में आधे से भी ज्यादा नियोक्ताओं ने पिछले साल की अपेक्षा में चालू वित्त साल के वास्ते वेतन का बजट रखा हुआ है। 

25% ने बजट में कोई परिवर्तन नहीं किया है। एक चौथाई अर्थात 24.4% नए बजट में कोई खास परिवर्तन नहीं किया है। रिपोर्टों में यह बात बताई गई है कि साल 2021- 22 की अपेक्षा में केवल 5.4% के बजट कम किया गया है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार एशिया प्रांत मतलब (APAC) के क्षेत्रों में सबसे ज्यादा वेतन वृद्धि भारत में ही हुई है। अगले वर्ष चीन में 6% , हॉन्ग कोंग तथा सिंगापुर में 4% वेतन वृद्धि की गई है। यह रिपोर्ट अप्रैल तथा मई 2022 में 168 देशों मैं किए जा चुके सर्वे पर बेस्ट है। इसके अलावा भारत में 590 कंपनियों से भी बात की जा चुकी है। 

जॉब करने वाले लोगों को प्रदान की जाने वाली सुविधाएं

  • यूं तो जॉब करने वाले लोगों को नियमित रूप से ऑफिस जाना और वहां पर काम करना पड़ता है। किंतु जितना अधिक नौकरी में मेहनत तथा प्रयास लगाना पड़ता है उतना ही अधिक इसमें सुविधाएं भी मुहैया कराई जाती है। 
  • इन्हीं सुविधाओं में से एक है पेंशन। पेंशन के विषय में तो संभवत सभी जानते ही होंगे। सभी जॉब वर्कर को उनकी कंपनियों के द्वारा उनके रिटायरमेंट अथवा जॉब छोड़ने की स्थिति में पेंशन की सुविधा मुहैया कराई जाती है। 
  • आपको बता दें कि इन जॉब कर्मचारियों की पेंशन धनराशि उन्हीं के मासिक वेतन के कुछ भाग से प्रदान की जाती है। 
  • कहने का तात्पर्य है कि जब कोई जॉब करता है तब उसके मासिक वेतन में से कुछ भाग को कंपनी काटकर उसके पीएफ अकाउंट में डाल देती है। 
  • यह सभी पीएफ अकाउंट ईपीएफओ अर्थात कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के तहत खुलवाए जाते हैं। इसके अंतर्गत सभी कर्मचारियों को एक यूएएन नंबर प्रदान किया जाता है जो संपूर्ण देश में कहीं भी मान्य होता है। 
  • जॉब छोड़ने की स्थिति में अथवा एक कंपनी से दूसरे कंपनी में ट्रांसफर होने की स्थिति में यूएएन नंबर बहुत ही ज्यादा सहायक सिद्ध होता है। 

किन कर्मचारियों को मिलता है पीएफ का लाभ

वैसे तो प्रत्येक कर्मचारी जो भी जॉब करता है उसे पीएफ अकाउंट का लाभ निसंदेह रूप से प्रदान किया जाता है। फिर भी समझाने के वास्ते एक उदाहरण लिया जाए। किसी कंपनी में यदि 20 से अधिक कर्मचारी है तो वहां पर सभी कर्मचारियों का ईपीएफओ के तहत इपीएफ अकाउंट खुलवा लेना आवश्यक है। पीएफ अकाउंट में जो धनराशि जमा होती है उस के ऊपर कंपनी के द्वारा कुछ ब्याज बढ़ाकर पैसों को लौटा दिया जाता है। इस प्रकार से पीएफ अकाउंट में जमा धन राशि में वृद्धि आती है। 

क्या पीएफ अकाउंट का लाभ केवल कर्मचारियों को मिलता है

अधिकतर लोगों को यही लगता होगा कि पीएफ अकाउंट का लाभ केवल कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों को ही मिलता है। किंतु आपको बता दें कि ऐसा नहीं है। मामूली से दुकान चलाने वाले अथवा छोटे-मोटे बिजनेस करने वाले लोग भी अपना पीएफ अकाउंट खुलवा कर पेंशन सुविधा का आनंद उठा सकते हैं। किंतु उनका पीएफ अकाउंट ईपीएफओ के तहत नहीं खोला जाएगा अपितु उन्हें अपना पीएफ अकाउंट पोस्ट अथवा बैंक मैं जाकर खुलवाना पड़ेगा। 

salary hike in 2023

महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ें:-

निष्कर्ष :-

आप सभी पाठकों को हम तहे दिल से धन्यवाद करना चाहते हैं जो आप सब ने हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ा । इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको Salary Hike in 2023: खुशखबरी! प्राइवेट नौकरी वालों के ल‍िए सबसे बड़ी खबर, अगले साल होगा इतना इंक्रीमेंट के विषय में विस्तार पूर्वक बताया है। हम आशा करते हैं कि हमारा आर्टिकल आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगा। यदि आप हमसे कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं अथवा कोई सुझाव देना चाहते हैं तो वह कार्य आप कमेंट के जरिए आसानी से कर सकते हैं,धन्यवाद।

Important Links

Official WebsiteClick Here
CGWAS HomeClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Leave a Comment