Sukanya Yojana 2022: जानिए क्या है सुकन्या योजना, क्या है इससे होने वाले लाभ जाने विस्तार पूर्वक

Sukanya Samriddhi Yojana 2022: हमारी भारतीय संस्कृति में नागरिक को देवी माना जाता है। जो हर मायने में पूजनीय होती है। हमारे देश के एक महान पुरुष ने कहा था कि हमारी देश की कोई भी नारी किसी भी पुरुष से हाथ नहीं मिलाती है। क्योंकि हमारी देश की प्रत्येक स्त्री महारानी के बराबर होती है। किंतु जितना इनका आदर सदैव से होता आ रहा है। दुर्भाग्यवश वर्तमान में ऐसा कदापि नहीं है।आज के युग में लोग बेटी को बहुत मानते हैं। उनके साथ भेदभाव करते हैं। बहुत सी ऐसी चीजें होती है। जो स्त्रियों से वंचित रह जाती है। इसका मुख्य कारण है लोगों की सोच।

इसी सोच का शिकार होकर न जाने कितनी ही लड़कियां इस दुनिया में सांस लेने से पहले ही अपनी सांसे खो देती है। इसका परिणाम यह हुआ कि हमारे देश का स्त्री और पुरुष के मध्य का लिंगानुपात पूर्ण रूप से असंतुलित हो चुका है।यह सब का मुख्य कारण लोगों की सोच है। वे सोचते हैं कि बेटियां बोझ होती है और उनका खर्च भी बहुत अधिक होता है। उनकी पढ़ाई उनका पहनावा उसके बाद शादी इत्यादि। इसमें बहुत अधिक खर्च होता है।

हमारी केंद्र सरकार भी यह बात को भलीभांति जानती है। इस मुद्दे की ओर खुद को उदार बनाते हुए हमारे सरकार ने सुकन्या योजना का प्रारंभ किया है। इस योजना के तहत एक निश्चित समय अवधि के बाद लड़कियों को बहुत अधिक पैसे मिलते हैं। वर्तमान में इस योजना से न जाने कितनी सारी लड़कियां जुड़ चुकी है। और इस योजना का लाभ उठा रही है। 

महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ें:-

आप किस प्रकार खोल सकते हैं सुकन्या अकाउंट:-

Sukanya Samriddhi Yojana 2022: आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि हमारे देश में लोग अपनी बेटी की शादी में अपनी पूरी कमाई फूंक देते हैं।कई कई मामलों में तो ऐसा भी देखा गया है कि पिता अपनी बेटी का विवाह करने के लिए अपनी जमीन जायदाद तक बेचने को राजी हो जाता है।

आप इन सभी बातों से यह अनुमान लगा सकते हैं कि शादियों में कितना खर्च होता है। हालांकि दहेज लेना और देना दोनों ही गैरकानूनी है लेकिन शादी में होने वाले खर्च पर कोई खास कानून नहीं है। केवल शादी ही एक मुद्दा नहीं है लड़कियों की शिक्षा, लड़कियों का स्वास्थ्य भी एक महत्वपूर्ण मुद्दा है।

इन सभी परिस्थितियों में पैसों की बहुत अधिक आवश्यकता होती है यदि कैसा रहेगा इन सभी परिस्थितियों में एक ऐसा जरिया हो जिससे पैसों की आपूर्ति सफलतापूर्वक की जा सके।यह जरिया सुकन्या योजना है। सुकन्या योजना के तहत लड़कियों का एक अकाउंट खुलवाया जाता है। यह अकाउंट किसे बैंक में नहीं खिलाया जाता है।इस अकाउंट को पोस्ट ऑफिस में खिलाया जाता है। 

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए अकाउंट खुलवाने के लिए डाक विभाग के किसी भी पोस्ट ऑफिस के सुविधा सेंटर में एक अलग से काउंटर खोला जाता है। पोस्ट ऑफिस में यह अकाउंट खोलने के लिए एक अलग से सुविधा सेंटर भी दिया जाता है।जहां आप आवश्यक दस्तावेजों को देखकर सरलता पूर्वक सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अकाउंट खुलवा सकते हैं।

sukanya yojana 2022

जाने सुकन्या समृद्धि योजना से जुड़े नियम:-

यदि आप अपना अथवा अपने परिवार में किसी का भी सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों का विशेष ध्यान रखना होगा जो कि निम्न प्रकार है।

  • सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में बेटी के नाम से 1 साल में केवल 1000 से लेकर लगभग ₹150000 तक की धनराशि जमा की जा सकती है।
  • जमा की गई धनराशि केवल 14 साल तक ही जमा करवाई जा सकती है। यह खाता बेटी के 21 साल हो जाने के बाद मैच्योर हो जाएगा।
  • योजना के द्वारा बताए गए नियमों और शर्तों के अनुसार यदि बेटी की उम्र 18 साल हो जाती है तो वह अपने इस खाते से आधी धनराशि को निकाल सकती है।
  • यदि लड़की द्वारा खुलाए गए खाते की समय अवधि 21 साल हो जाती है तो या खाता बंद हो जाएगा और इसमें जमा धनराशि पालक को दे दी जाएगी।
  • यदि लड़की की शादी 18 साल से 21 साल के बीच में हो जाती है तो अकाउंट उसी वक्त बंद कर दिया जाएगा।
  • यदि किसी कारणवश अकाउंट में पेमेंट करने में देरी हो जाती है तो ₹50 की पेनल्टी लग जाएगी।
  • पोस्ट ऑफिस के अतिरिक्त बहुत से ऐसे बैंक जैसे कि यूको एसबीआई बैंक ऑफ इंडिया इत्यादि बैंक अथवा निजी बैंक भी इस योजना के तहत खाता खुलवा सकते हैं।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुला है गए अकाउंट पर आयकर कानून की धारा 80 जी के अंतर्गत छूट दी गई है।
  • पालक के पास यादी दो बेटियां हैं तो वह इस योजना के तहत दो अकाउंट खुला सकता है। 
  • जुड़वा होने के पश्चात इसका प्रूफ देना होगा। तत्पश्चात ही पालक तीसरा खाता खोल सकने में समर्थ होंगे। पालक अकाउंट को कहीं भी ट्रांसफर करवा सकते हैं।

महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ें:-

क्या सुकन्या समृद्धि योजना क्या अकाउंट में जमा की गई धनराशि बढ़ती है?

Sukanya Samriddhi Yojana 2022: यह बात समझाने के लिए चलिए एक उदाहरण लिया जाए। मान लीजिए कि एक व्यक्ति है उसने 2015 में ₹1000 में अकाउंट को खुलवा लिया है। उसके बाद उससे 14 सालों तक यानी कि 2028 तक प्रति वर्ष ₹12000 डालने पड़ेंगे। खाते में जमा धनराशि में 8.6% के ब्याज दर से मिलने वाला पैसा भी इस धनराशि में जुड़ते रहेगा। जब बच्ची 21 सालों की हो जाएगी तब उसे 6,07,128 रुपए की धनराशि प्राप्त होगी। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि 14 सालों में पालक के द्वारा अकाउंट में जमा की गई धनराशि कुल 1.68 लाख रुपए की होगी। बाकी के 4,39,128 रुपए ब्याज के द्वारा प्राप्त होंगे।

जाने क्या है आवश्यक दस्तावेज सुकन्या समृद्धि योजना से जोड़ने के लिए:-

सुकन्या समृद्धि योजना से जुड़ने के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जो कुछ इस प्रकार से है

  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • एड्रेस प्रूफ
  • आईडी प्रूफ (आधार कार्ड)

आपके जानकारी के लिए आपको यह बात स्पष्ट कर दें कि सुकन्या समृद्धि योजना के लिए आप ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं।

निष्कर्ष:-

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको सुकन्या समृद्धि योजना के विषय में विस्तार पूर्वक बताया है। हम उम्मीद करते हैं कि हमारे आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। यदि आप हमसे कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो कमेंट की जरूरत तो पूछ सकते हैं, धन्यवाद।

Important Links

Official WebsiteClick Here
CGWAS HomeClick Here
Join TelegramClick Here

Leave a Comment