मोदी सरकार के इस फैसले के बाद अडानी विल्मर और रुचि सोया के शेयरों में लग गया लोअर सर्किट

सरकार के एक फैसले से अडानी विल्मर और रुचि सोया के शेयरों में जबरदस्त गिरावट आई है। अडानी विल्मर और रुचि सोया के शेयरों में जमकर बिकवाली हो रही है.

आज बुधवार को बीएसई पर गौतम अडानी की खाद्य तेल कंपनी अडानी विल्मर के शेयर लोअर सर्किट में फंस गया,वहीं रुचि सोया के शेयरों में भी लोअर सर्किट लग गया है. 

दरअसल इन शेयरों में गिरावट के पीछे सरकार का एक बड़ा फैसला है,सरकार ने मंगलवार को कच्चे सोयाबीन तेल और कच्चे सूरजमुखी केदरअसल तेल के आयात पर कस्टम ड्यूटी, एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपेमेंट सेस शून्य करने का ऐलान किया है. 

यानी 20 लाख टन तक इन कच्चे तेलों के आयात पर ये टैक्स नहीं देने होंगे, ऐसे में आने वाले दिनों में खाने के तेल सस्ता होगा,यही वजह है कि खाद्य तेल कंपनियों के शेयरों में गिरावट देखी जा रही है.

अडानी विल्मर के शेयर आज बीएसई पर 5% तक की गिरावट के साथ 664.95 रुपये पर कारोबार कर रहे हैं। कंपनी के शेयर में लोअर सर्किट लग गया है.

Adani Wilmar और RUCHI SOYA के शेयर

वहीं, दूसरी तरफ रुचि सोया के शेयरों में भी लोअर सर्किट है। यह शेयर बीएसई पर 5% गिरकर 1045.45 रुपये पर कारोबार कर रहे हैं.

सरकार का मानना है आयात शुल्क में इस छूट से घरलू कीमतों में नरमी आएगी और महंगाई को कंट्रोल करने में मदद मिलेगी। केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) ने एक ट्वीट में लिखा.

क्या कहना है सरकार का

यह निर्णय उपभोक्ताओं को महत्वपूर्ण राहत प्रदान करेगा,गौरतलब है कि सरकार ने तेल की बढ़ती कीमतों के बीच पिछले सप्ताह पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क घटाया था,साथ ही इस्पात और प्लास्टिक उद्योग में इस्तेमाल होने वाले कुछ कच्चे माल पर आयात शुल्क भी हटाने का निर्णय लिया था.