Earthquake in Uttarakhand: उत्तराखंड राज्य में भूकंप उत्तरकाशी में डोली धरती, तीव्रता रही 4.1 

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में 4.1 लता वाली भूकंप के झटके महसूस लोगों ने किए. इसकी वजह से लोगों के बीच में काफी खौफ का माहौल है. 

झटके महसूस होने पर सभी लोग घर से बाहर निकल गए. भूकंप की बात करें तो इसका केंद्र टिहरी बताया जा रहा है जोकि 28 किलोमीटर गहराई में है. 

EARTHQUAKE IN UTTARAKHAND TODAY:

उत्तराखंड राज्य के उत्तरकाशी जिले में भूकंप के झटके लोगों द्वारा महसूस किए गए हैं और यह झटके सुबह करीब 5:00 बज के 3 मिनट पर महसूस हुए हैं. इस भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.1 मापी गई है.

जैसे ही झटके लोगों ने महसूस किया वैसा ही उनमें काफी दहशत फैल गई क्योंकि भूकंप से लगभग हर किसी को डर लगता है और यह काफी जानलेवा भी हो सकता है अगर इसकी तीव्रता अधिक रहे तो. जिन लोगों ने इन झटकों को महसूस किया वह अपने घरों और दुकानों से बाहर निकल कर सड़क पर खड़े हो गए. 

वैसे भी उत्तराखंड भूकंप के मायने में काफी संवेदनशील माना जाता है और यहां पर अक्सर भूकंप के झटके महसूस किए जाते हैं. नेशनल सेंटर फॉर स्मॉलर जी के अनुसार भूकंप का केंद्र टिहरी गढ़वाल में है जो कि 28 किलो मीटर गहरा है. उत्तरकाशी में जिला मुख्यालय मोरी, डुंडा, पुरोला, भटवाड़ी सहित कई स्थानों पर भूकंप के झटके लोगों ने महसूस किए. 

जिला आपदा प्रबंधन के अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने कहा कि भूकंप से किसी प्रकार की क्षति नहीं हुई है और यह पहली बार नहीं है जब उत्तरकाशी में भूकंप के झटके लोगों द्वारा महसूस किए गए हो इससे पहले भी कई बार इस तरह के भूकंप आ चुके हैं और लोगों ने झटके महसूस किए हैं. 

आखिर भूकंप क्यों आता है? हिमालय के क्षेत्रों में विंडो यूरेशियन प्लेट के टकराने की वजह से जमीन के अंदर उर्जा पैदा होती है जो बाहर निकलती रहती है इस कारण भूकंप का आना यहां पर काफी स्वाभाविक होता है. साल भर की बात करें तो रिकॉर्ड के अनुसार साल भर में करीब 9 झटके भूकंप के महसूस किए गए. 

भूकंप आने की स्थिति में क्या करें

घर से बाहर निकल जाए खुले मैदान में चले जाएं बिल्डिंग के आसपास खड़ा ना रहे लिफ्ट की बजाय सीढ़ीयों का प्रयोग करें