Umran Malik IPL 2022: फल बेचने वाले का बेटा कैसे बना 'रफ्तार का सौदागर', पढ़ें उमरान मलिक की पूरी कहानी

सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के तेज गेंदबाज उमरान मलिक शानदार फॉर्म में चल रहे हैं. उमरान ने बुधवार (27 अप्रैल) को गुजरात टाइटन्स के खिलाफ 5 विकेट चटकाए.

इस शानदार प्रदर्शन के बाद उमरान की हर तरफ चर्चा होने लगी है और फैन्स उन्हें एशिया कप एवं टी20 वर्ल्ड कप जैसे आगामी टूर्नामेंट्स के लिए टीम में शामिल  करने की मांग कर रहे हैं.

22 साल के उमरान मलिक के लिए आईपीएल तक का सफर आसान नहीं रहा है. 17 साल की उम्र तक कोई स्पेशल कोचिंग प्राप्त नहीं की और ना ही लेदर गेंद से क्रिकेट खेला.

इस उम्र तक उमरान 'मोहल्ला' टेनिस बॉल टूर्नामेंट में खेलते आए थे, जहां कोई भी यूथ प्लेयर अपने ख्याति के अनुरूप 500 रुपये से 3000 रुपये के बीच कुछ भी कमा सकता है.

उमरान के पिता अब्दुल मलिक स्थानीय स्तर पर फल और सब्जियों की दुकान करते हैं. उमरान ने चार साल पहले गुज्जर नगर में कंक्रीट पिच पर अपना करियर शुरू किया था.

उमरान के पिता करते हैं ये काम

जब कभी-कभार उमरान रात को टेनिस बॉल से क्रिकेट खेलने जाते थे, तो अब्दुल मलिक अपने बेटे का पीछा करते थे,तो अब्दुल मलिक अपने बेटे का पीछा करते थे. क्योंकि उन्हें डर था कि उमरान कहीं गलत रास्ते पर नहीं चला जाए.

उमरान मलिक को पिछले सीजन टी. नटराजन के चोटिल होने के बाद सनराइजर्स की टीम में शामिल किया गया था. उमरान के जुड़ने की कहानी काफी दिलचस्प है. दरअसल, अब्दुल समद ने उमरान के बॉलिंग वीडियो वीवीएस लक्ष्मण और टॉम मूडी को भेजे थे.

ऐसे हुई SRH टीम में एंट्री

सनराइजर्स को उनके वीडियो पसंद आए और बाकी की चीजें अब इतिहास बन चुकी हैं. अब्दुल समद भी कश्मीर से ताल्लुक रखते हैं और मौजूदा आईपीएल में सनराइजर्स का पार्ट हैं.