T20 World Cup: टी20 वर्ल्ड कप के बाद रिटायरमेंट ले सकते हैं ये प्लेयर्स! चल रहे करियर के आखिरी दिन 

भारत में क्रिकेट को हमेशा से एक धर्म माना गया है। भारतीय टीम के साथ खेलना हर किसी का सपना होता है, लेकिन टीम इंडिया में जगह बनाना बेहद मुश्किल काम है। टीम इंडिया को इस साल टी20 वर्ल्ड कप में रोहित शर्मा की कप्तानी में खेलना है।

लेकिन टीम इंडिया के कई स्टार खिलाड़ी टी20 वर्ल्ड कप के बाद संन्यास का ऐलान कर सकते हैं. चयनकर्ता हर दौरे से इन खिलाड़ियों की अनदेखी कर रहे हैं। आइए जानते हैं इन खिलाड़ियों के बारे में।

मोहम्मद शमी लंबे समय से भारत की टी20 टीम से बाहर चल रहे हैं। उन्होंने अपना आखिरी टी20 मैच 8 नवंबर 2021 को खेला था। तब से वह टीम में मौका पाने के लिए तरस रहे हैं। टीम इंडिया में शमी की जगह कई युवा खिलाड़ियों ने ली है।

इस गेंदबाज को नहीं मिल रहा मौका

इनमें हर्षल पटेल, अवेश खान और अर्शदीप सिंह शामिल हैं। शमी ने भारत के लिए 17 टी20 मैचों में 18 विकेट लिए हैं। वह टी20 क्रिकेट में उतने सफल नहीं रहे हैं। चयनकर्ता धीरे-धीरे उनकी उपेक्षा करने लगे हैं। ऐसे में वह टी20 वर्ल्ड कप के बाद क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला कर सकते हैं।

भारत के धुरंधर सलामी बल्लेबाज शिखर धवन खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं. पिछले साल हुए टी20 वर्ल्ड कप में भी उन्हें टीम इंडिया का हिस्सा नहीं बनाया गया था. उन्होंने भारत के लिए अपना आखिरी मैच जुलाई 2021 में खेला था।

यह दमदार सलामी बल्लेबाज आउट

शिखर धवन की कभी रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग जोड़ी थी, लेकिन इसके बाद उन्होंने चयनकर्ताओं की नजरों में दस्तक देनी शुरू कर दी और केएल राहुल ने भारत के टी20 फॉर्मेट में बतौर ओपनर अपनी जगह पक्की कर ली।

ईशान किशन और ऋतुराज गायकवाड़ ने अपने प्रदर्शन के दम पर टीम इंडिया में जगह बनाई। इससे शिखर धवन के लिए भारत की टी20 टीम के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो गए। धवन ने भारत के लिए 66 टी20 मैचों में 1719 रन बनाए हैं।

वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में चयनकर्ताओं ने रविचंद्रन अश्विन को मौका दिया है। जब से कप्तान महेंद्र सिंह धोनी संन्यास ले चुके हैं। अश्विन को भारत की टी20 टीम में जगह बनाना काफी भारी रहा है.

इस जादुई स्पिनर के लिए आखिरी मौका

चयनकर्ताओं ने अश्विन से मुंह मोड़ना शुरू कर दिया। अश्विन टी20 क्रिकेट में वह करिश्मा नहीं दिखा पाए, जैसा उन्होंने टेस्ट मैचों में दिखाया है। टी20 क्रिकेट में वह रन बचाने पर ज्यादा ध्यान देते हैं। रविचंद्रन अश्विन ने टी20 क्रिकेट में भारत के लिए 51 टी20 मैचों में 61 विकेट लिए हैं।