इस छोटी सी ट्रिक से जान जाएंगे आम खट्टा है या मीठा,खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान,सौ टका मीठा निकलेगा आम

फलों का राजा आम स्वाद में मीठा और कभी-कभी खट्टा भी होता है,यूं तो कच्चे आमों में खट्टापन सभी को अच्छा लगता है लेकिन पके हुए खट्टे आम आमतौर पर खाने में अच्छे नहीं लगते और बस मन खराब होकर रह जाता है.

ऐसे में आम खरीदते वक्त यह ध्यान रखने की जरूरत होती है कि जो आम आप खरीद रहे हैं वो काटने के बाद भी उतने ही रसभरे और मीठे निकलें,लेकिन क्या आम देखने और छूने भर से ही उनके खट्टे या मीठे होने का पता लगाया जा सकता है.

जवाब है हां,ऐसे कुछ ट्रिक्स हैं जो अच्छे आम चुनने में आपकी मदद कर सकते हैं.

आम छू कर देखें पके हुए मीठे आम छूने पर हल्के मुलायम होते हैं लेकिन इतनी मुलायम नहीं कि आप उंगली लगाएं और वे धंस जाएं.

आम सूंघकर देखें कि उससे किसी तरह की केमिकल,एल्कोहल या दवाई की खुशबू न आए क्योंकि ऐसे आम रसायनों की मदद से उगाए और बड़े किए जाते हैं,ये प्राकृतिक नहीं होते हैं.

आमों को उनके तने के पास सूंघे,आम की डंडी वाली जगह पर सूंघने पर अगर आम में से मीठे अनानास या खरबूजे की खुशबू आ रही है तो वह पका हुआ और मीठा होगा.

हल्के दबे आमों को भी ना खरीदें,दबे और एक ही जगह से गहरे दिखने वाले आम सड़े हुए होते हैं.

फूटबाल की तरह गोलाकार दिखने वाले आम अधिकतर मीठे होते है,एकदम पतले और पिचके हुए सपाट आम ना लें, जिन आमों में लकीरें या कहें झुर्रियां पड़ी दिखें उन्हें भी ना लें.

साथ ही,अलग-अलग तरह के आमों के बारे में जानकार ही खरीदें जैसे,अतोल्फो आम पूरी तरह पकने से पहले झुर्रीदार और मुलायम होते हैं.

फ्रांसिस आम पक जाने पर हल्के हरे रंग के भी दिखते हैं और अल्फाबेट S की शेप के दिखाई देते हैं,पूरी तरह बड़े हो जाने पर इनका पीला सुनहरा रंग हो जाता है.

हेडेन आमों की वो वैरायटी है जिनमें पीले रंग के ऊपर छोटे सफेद चकत्ते नजर आते हैं,यह हल्के ओवल और गोलाकार होते हैं और ज्यादातर अप्रैल और मई के महीने में ही मिलते हैं.