7th Pay Commission: सरकार ने किया बकाया DA और Arrear का भुगतान, कर्मचारी फटाफट चेक कर ले अकाउंट

7th Pay Commission: किसी भी नौकरी में पेंशन तथा महंगाई भत्ते की विषय में जानना अति आवश्यक है। क्योंकि नौकरी स्थाई हो अथवा अस्थाई एक सहायता हेतु पेंशन तथा महंगाई भत्ते को रखना इन दिनों अनिवार्य हो चुका है। व्यक्ति दो प्रकार से धन अर्जित करता है प्रथम नौकरी करके तथा दूसरा व्यवसाय करके। व्यवसाय में जोखिम भरा होता है किंतु यदि उसमें लाभ होना प्रारंभ हो जाए तो उसकी कोई सीमा नहीं होती। 

वही नौकरी में सिक्योरिटी पूर्ण रूप से होती है किंतु इसमें व्यक्ति को प्रमोशन बहुत कम ही मिलता है। जो भी व्यक्ति जोखिम लेने से डरते हैं वह सदैव नौकरी को ही प्राथमिकता प्रदान करते हैं। क्योंकि भले ही इसमें मानसिक रूप से एक निश्चित धनराशि प्राप्त होती है किंतु इसमें पूर्णता सिक्योरिटी मौजूद होती है। 

यदि आप केंद्रीय कर्मचारी है एंव आपके रिश्तेदार अथवा मित्रों में कोई भी केंद्रीय कर्मचारी है तो उसके लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है। यदि आप केंद्रीय कर्मचारी हैं अथवा देश में चल रहे सुर्खियों पर नजर रखते हैं तो आपको यह बात अवश्य पता होगा कि 7th पे कमीशन आए दिन चर्चा का विषय बना हुआ रहता है। वेतन आयोग के तहत सभी केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि की जाती है। वेतन आयोग की स्थापना 31 जनवरी 1992 मैं हुई थी। 

7th Pay Commission

7th Pay Commission: त्योहारों के इस समय अवधि में केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सरकार की ओर से बहुत सी खुशखबरी प्रदान की जा रही है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक सभी केंद्रीय कर्मचारियों के बैंक खाते में सातवें वेतन आयोग की बकाया डीए तथा एरियर का भुगतान सफलतापूर्वक कर दिया जा चुका है। केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सरकार की ओर से एक बहुत बड़ी खुशखबरी प्रदान की गई है। केंद्र सरकार ने सभी केंद्रीय कर्मचारियों के डीए के ऊपर 4% तक की विधि की है। 

हमारे देश के कई राज्यों में कर्मचारियों का डीए 34% तक का है। आपको बता दें कि अभी महाराष्ट्र में वहां की सरकार ने भी अपने कर्मचारियों कोयह एक बहुत बड़ी खुशखबरी प्रदान की है। इससे पूर्व ही सभी केंद्रीय कर्मचारियों के अकाउंट में बकाया दो किस्तों की धनराशि सफलतापूर्वक ट्रांसफर की जा चुकी है। अब सरकार की ओर से तीसरी किस्त को लेकर तैयारी की जा रही है। 

महाराष्ट्र सरकार की ओर से सातवां वेतन

7th Pay Commission: इस बात से आपको परिचित करा दे कि महाराष्ट्र सरकार ने सातवें वेतन आयोग के अंतर्गत के बकाए के भुगतान तीसरे किस्तो को ऐलान करने से पूर्व ही कर दिया। इस वर्ष जुलाई से अगस्त माह के मध्य में सभी कर्मचारियों के खाते में तीसरी किस्त जो कि पेंडिंग थी वह अब आ जाएगी। केंद्र सरकार की ओर से तीसरी किस्त को सफलतापूर्वक जारी कर दिया गया है। 

कर्मचारियों को कब मिलेगी चौथी किस्त

  • महाराष्ट्र में वर्ष 2019 में राज्य सरकार के कर्मचारियों के साथ जिला परिषद तथा नगर निगम के कर्मचारियों के वास्ते सातवां वेतन आयोग लागू किया गया था। 
  • इसके पश्चात सरकार ने यह सुनिश्चित कर लिया है कि साल 2019 – 20 से 5 वर्षों में तथा 5 किस्तों में कर्मचारियों को उनकी बकाया धनराशि का भुगतान किया जाने वाला है। 
  • आपको बता दें कि इसके तहत कर्मचारियों को अब तक दो किस्तों का लाभ मिल चुका है तथा तीसरी किस्त आने की शुरुआत हो चुकी है। इसके पश्चात का चौथी किस्त सभी केंद्रीय कर्मचारी के खाते में भेज दिया जायेगा। 
  • जब से सरकार की ओर से इस फैसले को लिया गया है तब से ही सभी केंद्रीय कर्मचारियों के मन में प्रसन्नता का माहौल बना हुआ है। 
  • सभी केंद्रीय कर्मचारियों के खाते में पैसे आने प्रारंभ हो गए हैं। यदि आप महाराष्ट्र सरकार के कर्मचारी है तो इसके लिए आपको खाते को चेक करने की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा इसके अंतर्गत कर्मचारियों में ग्रुप ए के सभी अधिकारियों को ₹30000 से ₹40000 का फायदा होगा। 
  • दूसरी और ग्रुप भी वाले अधिकारियों को ₹20000 से ₹30000 का फायदा हो सकता है। इसके अलावा ग्रुप सी वाले अधिकारियों को ₹10000 से ₹15000 तथा चौथी श्रेणी वाले सभी अधिकारियों को ₹8000 से ₹10000 तक का फायदा प्राप्त हुआ। 
  • आपको इस बात से भी अवगत करा दे की महाराष्ट्र के सभी सरकारी केंद्र कर्मचारियों को 31% डीए का लाभ प्राप्त हो रहा है। 
7th pay commission

जाने क्या है फिटमेंट फैक्टर

7th Pay Commission: फिटमेंट फैक्टर के द्वारा ही केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में परिवर्तन किया जाता है। अर्थात यदि फिटमेंट फैक्टर का अनुमति ना मिले तो किसी भी कर्मचारी के वेतन में किसी भी प्रकार का परिवर्तन नहीं किया जाएगा। आपको बता दे की फिटमेंट फैक्टर के द्वारा ही अयोग्य रिपोर्ट प्रस्तुत करता है कि कर्मचारियों के वेतन में कितने प्रतिशत तक की वृद्धि की जाएगी। फिटमेंट फैक्टर के द्वारा केंद्रीय कर्मचारियों के मूल वेतन का निर्धारण किया जाता है। 

सेवंथ पे कमिशन

  • सेवंथ पे कमिशन को जनता के समक्ष 1 जनवरी 2016 को लाया गया था। उस समय सेवंथ पे कमिशन हे चेयरमैन अशोक कुमार माथुर थे। 
  • पहले वेतन आयोग का गठन 1 जनवरी 1992 में किया गया था। उस समय की अध्यक्षता को श्रीमती जानकी पटनायक ने अपने हाथों में लिया था। 
  • दूसरे वेतन आयोग को जनता के समक्ष 1995 में लाया गया था उस समय इसकी अध्यक्षता श्रीमती मोहिनी गिरी के पास थी। 
  • तीसरे वेतन आयोग को जनता के समक्ष जनवरी 1999 में लाया गया था। उस समय की अध्यक्षता श्रीमती विभा पार्थसारथी के पास मौजूद थी। 
  • केंद्र सरकार के द्वारा बनाए गए एक सरकारी बोर्ड के सिफारिश के परिणाम स्वरुप ही सातवें वेतन आयोग का गठन किया गया था। 

महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ें:-

निष्कर्ष:-

आप सभी पाठकों का हम धन्यवाद करना चाहते हैं जो आपने हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ा ।इस आर्टिकल के माध्यम से Outstanding DA Arrears सरकार ने किया बकाया डीए और एरियर का भुगतान, कर्मचारी फटाफट चेक कर ले अकाउंट के विषय में विस्तार पूर्वक बताया है। आशा है कि आर्टिकल आपको बहुत ही पसंद आया होगा। यदि आप कोई प्रश्न अथवा सुझाव हमें देना चाहते हैं तो सरलता पूर्वक कमेंट के जरिए दे सकते हैं। 

इस आर्टिकल को अधिक से अधिक लोगों के साथ अवश्य साझा करें जिससे कि इस बडी अपडेट से कोई भी वंचित न रह जाए ,धन्यवाद। 

Important Links

Official WebsiteClick Here
CGWAS HomeClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Leave a Comment